36 C
Mumbai
Thursday, February 29, 2024
होमदेश दुनियापाकिस्तान के प्रधानमंत्री को चुनाव से पहले बालाकोट जैसे हमले का डर...

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को चुनाव से पहले बालाकोट जैसे हमले का डर !

इसी बीच भारत और पाकिस्तान के जेट लड़ाकू विमान आपस में टकरा गए| इससे दोनों देशों में तनाव का माहौल बन गया| विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को पाकिस्तान ने हिरासत में ले लिया| इसके बाद पाकिस्तान ने वर्धमान को सुरक्षित रिहा कर दिया|

Google News Follow

Related

पुलवामा हमले के बाद भारत ने चार साल पहले 14 फरवरी 2019 को बालाकोट में एयर स्ट्राइक की थी| इस हमले के बाद पाकिस्तान हिल गया था| इस हमले में कुछ आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर नष्ट हो गये। इसी बीच भारत और पाकिस्तान के जेट लड़ाकू विमान आपस में टकरा गए| इससे दोनों देशों में तनाव का माहौल बन गया| विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को पाकिस्तान ने हिरासत में ले लिया| इसके बाद पाकिस्तान ने वर्धमान को सुरक्षित रिहा कर दिया|
अब पाकिस्तान के कार्यवाहक प्रधानमंत्री अनवारुल हक ककर को एक अलग ही डर सता रहा है| कक्कड़ को चिंता है कि लोकसभा चुनाव से पहले भारत पाकिस्तान पर बालाकोट जैसा एक और हवाई हमला कर सकता है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ककर ने पाकिस्तान के लिए चिंता जताते हुए कहा है कि अगर भारत ने 2019 की तरह दोबारा एयर स्ट्राइक की तो हम उन्हें मुंहतोड़ जवाब देंगे|
एक पॉडकास्ट में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री काकर ने कहा, ”अगर हमारी जमीन पर हमला हुआ तो हम वैसी ही कार्रवाई करेंगे जैसी हमने 2019 में की थी| हम भारतीय विमानों को मार गिराएंगे| हमारी युद्ध सामग्री, गोलियाँ पुरानी नहीं हुई हैं और हमारा संकल्प कमज़ोर नहीं हुआ है। हमारे पास नई गोलियाँ भी हैं। और हमारा संकल्प भी एक नई सांस है। ऐसे में पाकिस्तान के जवाब को लेकर किसी को भी भ्रम में नहीं रहना चाहिए,’ काकर ने ये भी कहा|
कश्मीर पर वल्गाना: कश्मीर मुद्दे से निपटने के लिए पाकिस्तान और भारत को मिलकर काम करना चाहिए| जब तक कश्मीर विवाद सुलझ नहीं जाता तब तक यहां संघर्ष खत्म नहीं होगा| तथा तनाव बढ़ता रहेगा। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री काकर ने कहा है कि कश्मीर का मुद्दा केवल कश्मीर के लोगों और भारत-पाकिस्तान तक ही सीमित नहीं है, बल्कि पूरे दक्षिण एशिया को प्रभावित करता है।
चुनाव पर आतंकी खतरा: पाकिस्तान में अगले महीने चुनाव हैं। इन चुनावों पर आतंकवाद का खतरा मंडरा रहा है| कुछ इलाकों, खासकर दक्षिणी खैबर पख्तूनख्वा और बलूचिस्तान में आतंकी हमलों की आशंका है| इससे चुनाव में प्रत्याशी डरे हुए हैं। पीएम अनवारुल हक ककर  ने कहा कि कुछ दिक्कतें हैं, लेकिन पूरी चुनाव प्रक्रिया पर संदेह करना गलत है|

यह भी पढ़ें-

अहमदाबाद में प्रधानमंत्री और यूएई राष्ट्रपति का रोडशो: भारत-यूएई संबंधों पर नया अध्याय?

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,746फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
132,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें