30 C
Mumbai
Friday, February 23, 2024
होमदेश दुनियाउबा​ठा​ समूह RSS का छोटा रिचार्ज', ओवैसी ने राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा...

उबा​ठा​ समूह RSS का छोटा रिचार्ज’, ओवैसी ने राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रमों की आलोचना की​!

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने राम मंदिर समर्पण को लेकर इंडिया अलायंस के घटक दलों की कड़ी आलोचना की है|

Google News Follow

Related

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने राम मंदिर समर्पण को लेकर इंडिया अलायंस के घटक दलों की कड़ी आलोचना की है| दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के सभी विधानसभा क्षेत्रों में सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया है। उक्त कार्यक्रम राम मंदिर प्राणप्रतिष्ठा के अवसर पर आयोजित किया गया है| इस धार्मिक कार्यक्रम में आप के तमाम नेता शामिल होने वाले हैं| अब ओवैसी ने आप के फैसले की आलोचना की है|उन्होंने ठाकरे ग्रुप पर भी निशाना साधा है|

ओवैसी ने कहा, ”आप में (आप और अन्य पार्टियों) भाजपा-आरएसएस में क्या अंतर है| इस पार्टी के कुछ नेता कहते हैं, शरयू नदी पर जाएंगे, कुछ राष्ट्रपति को नासिक के कालाराम मंदिर में आमंत्रित कर रहे हैं, यहां दिल्ली में ‘आप’ द्वारा सूरजकुंड और हनुमान चालीसा का पाठ किया जाएगा। इसलिए उनमें और भाजपा की विचारधारा में कोई अंतर नहीं है| तो आप मोदी को कैसे हराएंगे? मुझे लगता है कि ये विपक्ष का दोहरापन है|

शिवसेना उद्धव ठाकरे गुट ने 22 जनवरी को नासिक के कालाराम मंदिर में पूजा का आयोजन किया है। इसके लिए उद्धव ठाकरे ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को भी आमंत्रित किया है| अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन और नए संसद भवन के उद्घाटन में राष्ट्रपति को आमंत्रित नहीं किया गया| इसलिए, ठाकरे समूह ने राष्ट्रपति को कालाराम मंदिर में पूजा करने का निमंत्रण भेजा।

लेकिन ओवैसी ने इसकी आलोचना की| अब, हिंदुत्व की प्रतिस्पर्धी राजनीति देखी जा रही है। यह जानने का प्रयास किया जा रहा है कि बहुसंख्यक मतदाताओं से अधिक मत कैसे प्राप्त किये जायें। अब समय आ गया है। जो लोग देश में धर्मनिरपेक्षता में विश्वास करते हैं उन्हें इस बारे में सोचना चाहिए”, ओवैसी ने कहा।

साथ ही ओवैसी ने अपने एक्स अकाउंट पर पोस्ट कर ‘आप’ पार्टी को आरएसएस का छोटा रिचार्ज बताया| आम आदमी पार्टी ने 22 जनवरी के मौके पर दिल्ली के हर विधानसभा क्षेत्र में सुंदरकांड का पाठ आयोजित किया है| मैं आपको याद दिलाना चाहूंगा कि ये पार्टियां बिलकिस बानो मामले पर चुप थीं। उन्होंने कहा कि वह सिर्फ शिक्षा और स्वास्थ्य पर बात करेंगे| तो क्या सुन्दरकाण्ड पाठ एक शैक्षणिक विषय है? सच तो यह है, इन लोगों को न्याय से कोई लेना-देना नहीं है| ये दल केवल संघ की भूमिका को कमजोर करने का काम कर रहे हैं।’

ओवैसी द्वारा AAP की आलोचना के बाद दिल्ली के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने प्रतिक्रिया दी| उन्होंने कहा कि सुंदरकांड जैसे कार्यक्रम पर किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए| इतने अच्छे कार्यक्रम से अगर किसी को आपत्ति है तो यह बुरी बात है| भगवान हनुमान ओवैसी को आशीर्वाद दें।

यह भी पढ़ें-

”प्राण प्रतिष्ठा समारोह​”: ​आरोप-प्रत्यारोप और राजनीति का कब्जा !

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,760फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें