31 C
Mumbai
Wednesday, April 24, 2024
होमन्यूज़ अपडेटसुप्रीम कोर्ट​: शरद पवार समूह को दिया गया नाम अगले आदेश तक...

सुप्रीम कोर्ट​: शरद पवार समूह को दिया गया नाम अगले आदेश तक बरकरार रहेगा !

शरद पवार गुट ने सुप्रीम कोर्ट में मांग की थी कि चुनाव आयोग ने हमें जो प्रोविजनल नाम दिया है, उसे चुनाव तक बरकरार रखा जाए​|​ इसके बाद कोर्ट ने ये फैसला सुनाया है​|​ सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि शरद पवार गुट को चुनाव चिन्ह के लिए आयोग के पास आवेदन करना होगा और आयोग नियमों के मुताबिक चुनाव चिन्ह देगा​|​

Google News Follow

Related

सुप्रीम कोर्ट ने आज फैसला सुनाया कि शरद पवार गुट को दिया गया नाम ‘राष्ट्रवादी कांग्रेस शरद चंद्र पवार’ अगले आदेश तक बरकरार रहेगा​|​ शरद पवार गुट ने सुप्रीम कोर्ट में मांग की थी कि चुनाव आयोग ने हमें जो प्रोविजनल नाम दिया है, उसे चुनाव तक बरकरार रखा जाए​|​ इसके बाद कोर्ट ने ये फैसला सुनाया है​|​ सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि शरद पवार गुट को चुनाव चिन्ह के लिए आयोग के पास आवेदन करना होगा और आयोग नियमों के मुताबिक चुनाव चिन्ह देगा​|​

​शरद पवार गुट की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी सुप्रीम कोर्ट में बहस कर रहे हैं| अभी तुरंत सम्मेलन है| चुनाव आयोग ने हमें एक अस्थायी नाम दिया है| कुछ ही दिनों में बजट सत्र है| इसके बाद चुनाव की तैयारी शुरू हो जायेगी| मनु सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट में दलील दी है कि हम नाम और निशान के बिना नहीं रह सकते, इसलिए हमें दिया गया नाम बरकरार रखें और निशान दे दें| विभाजन को छोड़कर विलय का प्रावधान किया गया, इसका उद्देश्य क्या है, निर्वाचन क्षेत्र के बारे में क्या? सुप्रीम कोर्ट ने भी ऐसे सवाल पूछे हैं|

​​कोर्ट ने क्या कहा?: पवार गुट की मांग पर बोलते हुए जस्टिस विश्वनाथन ने कहा, आपको मुकुल रोहतगी पर विचार करना चाहिए। आपके (आयोग के) आदेश में क्या लिखा है​|​ दोनों समूहों ने घटना का अनुसरण नहीं किया। किसी को अयोग्य नहीं ठहराया गया​|​ आयोग का निष्कर्ष क्या है कि आप दोनों ने संविधान का पालन नहीं किया​|​

​एनसीपी पार्टी में फूट के बाद चुनाव आयोग ने पार्टी का नाम और घड़ी चुनाव चिन्ह उप मुख्यमंत्री अजित पवार के गुट को दे दिया था| इसके बाद शरद पवार गुट के मुखिया शरद पवार ने अजित पवार को एनसीपी पार्टी का चुनाव चिन्ह और नाम देने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है| सुप्रीम कोर्ट में इस पर सुनवाई जारी है|

यह भी पढ़ें-

महाराष्ट्र ​की​ सिया​सत​​: राज ठाकरे और आशीष शेलार ​से​ हुई मुलाकात ?

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,634फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें