34 C
Mumbai
Tuesday, May 21, 2024
होमदेश दुनियाभारत में नाम बदलने की परंपरा पुरानी है, पहले राज्यों और राजधानियों...

भारत में नाम बदलने की परंपरा पुरानी है, पहले राज्यों और राजधानियों का भी नाम बदला… !

जबकि संविधान में साफ-साफ लिखा है कि 'इंडिया' का मतलब 'भारत' होता है, लेकिन अब चर्चा है कि देश का नाम बदलकर 'भारत' कर दिया जाएगा, लेकिन भारत के लिए इस तरह का नाम परिवर्तन कोई नई बात नहीं है| पहले भी देश में कुछ राज्यों और कुछ राजधानियों के नाम बदले जा चुके हैं।

Google News Follow

Related

जबकि संविधान में साफ-साफ लिखा है कि ‘इंडिया’ का मतलब ‘भारत’ होता है, लेकिन अब चर्चा है कि देश का नाम बदलकर ‘भारत’ कर दिया जाएगा, लेकिन भारत के लिए इस तरह का नाम परिवर्तन कोई नई बात नहीं है| पहले भी देश में कुछ राज्यों और कुछ राजधानियों के नाम बदले जा चुके हैं। हमारा महाराष्ट्र राज्य भी इससे अछूता नहीं है|

भारत अनेक राज्यों का संघ है। कुछ राज्य पुराने थे। कुछ नव निर्मित थे|ओडिशा इतना पुराना राज्य है,लेकिन 2011 में इसका नाम बदलकर ओडिशा कर दिया गया। एक और छोटा सा राज्य है जो इसी तरह बदल गया है|उसका नाम पांडिचेरी है. 2006 में इसका नाम बदलकर पुडुचेरी कर दिया गया।

आजादी के बाद राज्यों की तरह देश के कई प्रमुख शहरों के ब्रिटिश नाम बदल दिये गये। 1996 में, बॉम्बे महाराष्ट्र में मुंबई बन गया। इसी वर्ष तमिलनाडु की राजधानी मद्रास से बदलकर चेन्नई कर दी गई। पश्चिम बंगाल की राजधानी कलकत्ता का नाम 2001 में बदलकर कोलकाता कर दिया गया। ऐसा ही नामकरण कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु का भी किया गया और शहर को नया नाम बेंगलुरु मिला।

उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद के प्रयाग राज, महाराष्ट्र में औरंगाबाद, उस्मानाबाद के चौ. संभाजीनगर और धाराशिव किये गये। इसलिए नाम बदलना भारत के लिए कोई नई बात नहीं है|

यह भी पढ़ें-

जारी रहेगा आंदोलन, मनोज जारांगे की मांग अध्यादेश में ‘ये’ शब्द में हो सुधार !

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,601फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
154,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें