28 C
Mumbai
Saturday, March 2, 2024
होमधर्म संस्कृतिशिंदे गुट के दशहरा सभा का आवेदन वापस लेने के बाद उद्धव...

शिंदे गुट के दशहरा सभा का आवेदन वापस लेने के बाद उद्धव ठाकरे की पहली प्रतिक्रिया, कहा..!

शिवसेना के दोनों गुटों ने मुंबई के शिवाजी पार्क (शिवतीर्थ) में दशहरा सभा आयोजित करने के लिए मुंबई नगर निगम को आवेदन दिया था। पिछले साल ये मामला बॉम्बे हाई कोर्ट में गया था|इससे मुंबई में तनाव बढ़ गया| पिछले साल की तरह इस साल भी ऐसे ही तनाव की आशंका थी|

Google News Follow

Related

शिवसेना के दोनों गुटों ने मुंबई के शिवाजी पार्क (शिवतीर्थ) में दशहरा सभा आयोजित करने के लिए मुंबई नगर निगम को आवेदन दिया था। पिछले साल ये मामला बॉम्बे हाई कोर्ट में गया था|इससे मुंबई में तनाव बढ़ गया| पिछले साल की तरह इस साल भी ऐसे ही तनाव की आशंका थी|हालांकि, शिंदे गुट के विधायक सदा सरवणकर ने मुंबई नगर पालिका को दिया गया आवेदन वापस ले लिया है| इसलिए, ठाकरे समूह के लिए शिवाजी पार्क में दशहरा सभा आयोजित करने का रास्ता साफ हो गया है। इस बीच, ठाकरे गुट के नेता उद्धव ठाकरे ने इस पर प्रतिक्रिया दी है| मातोश्री में पारंपरिक पोशाक में तीर्थयात्री उद्धव ठाकरे से मिलने पहुंचे| उसी समय उन्होंने संवाद किया|
उन्होंने कहा, ”हमारा रुख यह था कि हमें हिंदुत्व विचारों के लिए शिवाजी पार्क की जमीन मिलनी चाहिए। लेकिन, विवाद से बचने के लिए हम आजाद मैदान या क्रांति मैदान से हिंदुत्व के विचार पेश कर सकते हैं, यही मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की भूमिका है, ऐसा सदा सरवणकर ने कहा। इसलिए ठाकरे ग्रुप की दशहरा सभा शिवाजी पार्क में होगी|मातोश्री में आज वासुदेव की वेशभूषा में नंदी बैल के साथ सेवादार उद्धव ठाकरे से मिलने पहुंचे| उनके प्रतिनिधिमंडल ने उद्धव ठाकरे को अपनी मांगों का एक विवरण सौंपा। साथ ही उद्धव ठाकरे ने भी उनसे बातचीत की| इस मौके पर उन्होंने कहा, ”शिवाजी पार्क और दशहरा मेलावा हमारी परंपरा है| इस साल भी दशहरा मेला शिवाजी पार्क यानी शिवतीर्थ पर बड़े उत्साह के साथ आयोजित किया जाएगा”, उद्धव ठाकरे ने कहा।
“तुम ईश्वर से डरने वाले लोग हो। वासुदेव के आने के बाद दिन की सुन्दर शुरुआत हुई| मुंबई में भी पहले वासुदेव आते थे तो सुबह हो जाती थी,लेकिन अब आपकी परंपरा रहेगी या नहीं, इसकी किसी को परवाह नहीं है, लेकिन सबकी नजर इस बात पर है कि कुर्सी कैसे टिकेगी| आज कई मंत्री परेशान हैं, लेकिन आपके साथ हो रहे अन्याय को देखकर क्या एक भी मंत्री परेशान है?” उन्होंने सरकार की भी आलोचना की| साथ ही उन्होंने सैनिकों से अपना समर्थन जारी रखने का अनुरोध किया है|
यह भी पढ़ें-

चित्रा वाघ का गंभीर आरोप!,गर्भवती मां नहीं खातीं सरकार द्वारा दी जाने वाली गोलियां ?

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,738फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
133,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें