30 C
Mumbai
Sunday, June 16, 2024
होमबिजनेसक्रिप्टोकरेंसी पर RBI के पूर्व गवर्नर डी सुब्बाराव का बड़ा बयान 

क्रिप्टोकरेंसी पर RBI के पूर्व गवर्नर डी सुब्बाराव का बड़ा बयान 

क्रिप्टोकरेंसी की मंजूरी देने पर भारत को कई स्तरों पर नुकसान उठाना पड़ सकता है 

Google News Follow

Related

भारत में क्रिप्टोकरेंसी की मंजूरी को लेकर जोर शोर से बहस जारी है।इस बीच भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर डी सुब्बाराव ने इसकी मंजूरी देने पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा है कि क्रिप्टोकरेंसी को सरकार द्वारा मान्यता देने पर भारत को कई स्तरों पर नुकसान उठाना पड़ सकता है। भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर डी सुब्बाराव यह बात एक सेमिनार में कही। बता दें कि भारत में क्रिप्टोकरेंसी का बड़ा बाजार बनता जा रहा है। भारतीय भी क्रिप्टोकरेंसी में पैसा लगा रहे हैं। पिछले दिनों कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन की वजह से कई क्रिप्टोकरेंसी के भाव में भारी गिरावट दर्ज की गई थी।

पूर्व गवर्नर के अनुसार, भारत में केंद्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा (सीबीडीसी) को जारी करने का मामला मजबूत ना हो क्योंकि इसमें पूंजी नियंत्रण का मामला भी शामिल है। क्योंकि ”क्रिप्टो एल्गोरिदम से चलती है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय  बैंक धन की आपूर्ति से मुद्रास्फीति प्रबंधन से अपना नियंत्रण खो सकता है। उन्होंने आशंका जाहिर की कि असर मौद्रिक निति पर भी पड़ सकता है।
बता दें कि डी सुब्बाराव 2008 से 2013 तक भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर थे। उन्होंने कहा कि इसके लिए केंद्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा (सीबीडीसी) को डेटा संरक्षण कानून की जरूरत पड़ेगी। मालूम हो कि भारत में भी लगातार डिजिटल मुद्रा को मंजूरी की मांग की जा रही है। खबरों में कहा जा रहा है कि इस शीतकालीन सत्र में सरकार बिल ला सकती है।


ये भी पढ़ें  

निर्मला सीतारमण भारत की सबसे शक्तिशाली महिला 

भारत ने पेप्सिको के FC5 आलू का पेटेंट रद्द किया 

क्रिप्टो बाजार में हाहाकार, कई डिजिटल करेंसी के भाव धराशायी   

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,562फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
161,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें