34 C
Mumbai
Tuesday, April 16, 2024
होमबिजनेसपाकिस्तान की पूरी अर्थव्यवस्था से बड़ा, टाटा ग्रुप का बाजार पूंजीकरण

पाकिस्तान की पूरी अर्थव्यवस्था से बड़ा, टाटा ग्रुप का बाजार पूंजीकरण

Google News Follow

Related

प्रशांत कारुलकर

टाटा ग्रुप ने इतिहास रच दिया है! इस समूह का बाजार पूंजीकरण (Market Capitalization) बढ़कर 356 अरब डॉलर तक पहुंच गया है, जो पाकिस्तान के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) से भी अधिक है। पाकिस्तान का जीडीपी वर्तमान में लगभग 341 अरब डॉलर है।

पिछले एक साल में टाटा समूह के शेयरों ने शानदार प्रदर्शन किया है। जिसके चलते कंपनी का बाजार मूल्य बढ़कर 30.3 लाख करोड़ रुपये (356 अरब डॉलर) तक पहुंच गया है। बता दें कि टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) का ही बाजार पूंजीकरण लगभग 15.13 लाख करोड़ रुपये है, जो पाकिस्तान के जीडीपी के लगभग आधे के बराबर है।

इस उपलब्धि पर सोशल मीडिया पर भी खुशी की लहर है। कई यूजर्स ने टाटा ग्रुप को बधाई दी है। एक यूजर ने लिखा, “टाटा ग्रुप का बाजार पूंजीकरण 365 अरब डॉलर को पार कर गया, पाकिस्तान के जीडीपी को पीछे छोड़ दिया! अकेले TCS का 170 अरब डॉलर का मूल्य पाकिस्तान के जीडीपी के आधे के बराबर है।”

टाटा ग्रुप की सफलता के प्रमुख कारक:

विभिन्न क्षेत्रों में उपस्थिति: टाटा ग्रुप की सफलता का एक प्रमुख कारण यह है कि यह विभिन्न क्षेत्रों में फैला हुआ है, जैसे कि आईटी, वाहन, इस्पात, उपभोक्ता उत्पाद, दूरसंचार, और विमानन। इस विविधीकरण ने कंपनी को आर्थिक मंदी के दौरान भी स्थिरता प्रदान की है।

निरंतर नवाचार: टाटा ग्रुप लगातार नवाचार पर ध्यान देता है। कंपनी ने नई तकनीकों को अपनाकर और नए उत्पादों को लॉन्च करके अपने कारोबार में विस्तार किया है।

मजबूत ब्रांड छवि: टाटा ग्रुप की भारत में एक मजबूत ब्रांड छवि है। कंपनी को भरोसेमंद और उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों के लिए जाना जाता है।

अर्थशास्त्रियों का मानना है कि टाटा ग्रुप की यह उपलब्धि भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए भी एक सकारात्मक संकेत है। यह दिखाता है कि भारतीय कंपनियां वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने में सक्षम हैं।

ये भी पढ़ें

जम्मू-कश्मीर में विकास की रफ्तार तेज

भारतीय कंपनियों द्वारा पूंजीगत व्यय में वृद्धि: विस्तार और विकास का नया दौर

पाकिस्तान चुनाव परिणाम: भारत पर प्रभाव का विश्लेषण

भारत की बड़ी राजनैतिक सफलता

 भारतीय बैंकिंग क्षेत्र: बड़े और मजबूत बैंकों की आवश्यकता

लालकृष्ण आडवाणी: एक प्रेरणादायक व्यक्तित्व

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,646फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
147,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें