28 C
Mumbai
Wednesday, February 28, 2024
होमदेश दुनिया"...तो चुप नहीं रहेगा अमेरिका"​; इज़रायल-हमास युद्ध का बढ़ेगा दायरा?

“…तो चुप नहीं रहेगा अमेरिका”​; इज़रायल-हमास युद्ध का बढ़ेगा दायरा?

हमास द्वारा इजराइल की जमीन पर रॉकेट हमला करने के बाद इजराइल ने भी गाजा पट्टी में हमास के ठिकानों पर तूफानी हवाई हमला किया| इस युद्ध में अब तक सैकड़ों नागरिकों की मौत हो चुकी है और यह संख्या बढ़ती ही जा रही है| इस पृष्ठभूमि में, इज़राइल-हमास युद्ध के और अधिक विस्तार की संभावना है।

Google News Follow

Related

इजराइल और हमास के बीच पिछले तीन हफ्ते से जारी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है। हमास द्वारा इजराइल की जमीन पर रॉकेट हमला करने के बाद इजराइल ने भी गाजा पट्टी में हमास के ठिकानों पर तूफानी हवाई हमला किया| इस युद्ध में अब तक सैकड़ों नागरिकों की मौत हो चुकी है और यह संख्या बढ़ती ही जा रही है| इस पृष्ठभूमि में, इज़राइल-हमास युद्ध के और अधिक विस्तार की संभावना है।
ऐसी संभावना है कि इजराइल और फिलिस्तीन का समर्थन करने वाले देश एक-दूसरे के आमने-सामने होंगे| ऐसा देखा जा रहा है कि अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है| इसी पृष्ठभूमि में अमेरिका ने सार्वजनिक तौर पर ईरान को चेतावनी दी है|

असल में क्या हो रहा है?: इजराइल और हमास के बीच युद्ध अभी भी जारी है और हमास के आतंकी पीछे हटने को तैयार नहीं हैं|इज़रायल ने संयुक्त राष्ट्र द्वारा आपूर्ति की गई महत्वपूर्ण सामग्रियों को गाजा पट्टी जाने की अनुमति दे दी है, लेकिन गाजा पट्टी में बमबारी और हवाई हमले अभी भी जारी हैं। अब इजराइल ने गाजा पट्टी पर जमीन से हमला करने की योजना बनाई है और इजराइल ने हमास को पूरी तरह से खत्म करने का अपना संकल्प स्पष्ट कर दिया है।

जहां एक ओर गाजा पट्टी में युद्ध छिड़ा हुआ है, वहीं दूसरी ओर इन दोनों पक्षों का समर्थन करने वाले देशों के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। इसमें अमेरिका और ईरान देश शामिल हैं|अमेरिका ने हाल ही में ईरान द्वारा अमेरिकी नागरिकों को निशाना बनाने की आशंका जताई है और अगर ऐसा हुआ तो अमेरिका ने सीधे संयुक्त राष्ट्र की बैठक में सार्वजनिक चेतावनी दी है कि अमेरिका चुप नहीं बैठेगा|

“हम ईरान के साथ संघर्ष नहीं चाहते। लेकिन अगर ईरान या उनकी ओर से कोई और दुनिया में कहीं भी अमेरिकी नागरिकों पर हमला करेगा तो अमेरिका चुप नहीं बैठेगा|15 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के समक्ष अमेरिकी कैबिनेट सचिव एंथनी ब्रिंकन ने कहा, “संयुक्त राज्य अमेरिका उस हमले का दृढ़ता से और तुरंत जवाब देगा।” अमेरिका ने यह चेतावनी इजरायल और फिलिस्तीन के बीच बढ़ते संघर्ष पर चल रही चर्चा में दी है|

“अमेरिका ईरान के साथ कोई संघर्ष नहीं चाहता है। हम बिल्कुल नहीं चाहते कि इजराइल-फिलिस्तीन युद्ध बढ़े। लेकिन अगर ईरान या कोई और कहीं भी अमेरिकी नागरिकों पर हमला करता है, तो याद रखें, हम अपने नागरिकों की रक्षा करेंगे, ”ब्लिंकन ने सम्मेलन में कहा।

अमेरिका की सभी देशों से अपील: इस बीच, ब्लिंकन ने संयुक्त राज्य अमेरिका की ओर से सभी देशों से अपील की है। अन्य सभी देशों को एक साथ आना चाहिए और ऐसे किसी भी देश को एकजुट संदेश देना चाहिए जो अमेरिका या किसी अन्य देश के खिलाफ नया मोर्चा खोलने की सोच रहा है जो इस युद्ध में इज़राइल की मदद कर रहा है। ब्लिंकेन ने कहा, “आग में घी डालने की कोशिश न करें।” इस बीच ईरान ने अमेरिका के सभी आरोपों को खारिज कर दिया है|
 
यह भी पढ़ें-

गिरीश महाजन ​​ने​​ क्यों नहीं उठाया फोन ? ; जारांगे पाटिल ने कहा, वह कायम हैं भूख हड़ताल पर!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,746फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
132,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें