28 C
Mumbai
Thursday, February 1, 2024
होमदेश दुनियाश्रीराम मंदिर कार रैली ने अमेरिका के ह्यूस्टन को किया भगवामय

श्रीराम मंदिर कार रैली ने अमेरिका के ह्यूस्टन को किया भगवामय

'जय श्री राम' की गूंज से वातावरण गूंज उठा  

Google News Follow

Related

7 जनवरी को, ह्यूस्टन के हिंदुओं ने अमेरिका में सबसे बड़ी और सबसे सफल कार रैली निकाली जो सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए। श्री राम को समर्पित, इस रैली का आयोजन अचलेश अमर, अरुण मुंद्रा और उमंग मेहता के नेतृत्व में किया गया था। यह कार रैली अयोध्या में 22 जनवरी को श्री राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया था।

जिया मंजरी से बात करते हुए रैली आयोजकों ने बताया कि रैली पियरलैंड में श्री मीनाक्षी मंदिर में सुबह-सुबह राम सन्निधि में पूजा के साथ शुरू हुई। रैली देर दोपहर रिचमंड में श्री शरदंबल मंदिर में समाप्त हुई। 500 से अधिक सवारियों के साथ कुल 216 कारों और पांच मोटरबाइकर्स ने इस रैली में भाग लिया।

american hindus organise car rally in houston usa to commemorate inauguration of ram mandir temple in ayodhya

श्री मीनाक्षी मंदिर, सनातन शिव शक्ति मंदिर, हिंदू पूजा सोसायटी, ह्यूस्टन दुर्गा बारी सोसायटी, श्री गुरुवायुरप्पन मंदिर, वीपीएसएस हवेली, श्री कृष्ण वृंदावन, श्री अष्टलक्ष्मी मंदिर , शिरडी साईं जलाराम मंदिर, वडताल धाम, शरदम्बा मंदिर, जेवीबी प्रेक्षा ध्यान केंद्र और आर्य समाज मन्दिर को रुकने के स्थान के रूप में भाग लिया, जहां भव्य सनातनी परंपराओं के साथ रैली का स्वागत किया गया।

छह घंटों के दौरान, उन्होंने ग्यारह मंदिरों में रुकते हुए एक सौ मील की दूरी तय की, जहां अनुमानित दो हजार लोगों ने शुद्ध प्रेम, भक्ति और सद्भाव का एक अद्वितीय माहौल बनाते हुए रैली का स्वागत किया।

“2000 से अधिक भक्तों, कार रैली प्रतिभागियों और ह्यूस्टन के विभिन्न मंदिरों में एकत्र हुए लोगों द्वारा दिखाई गई भक्ति और प्रेम, बस अभिभूत करने वाला था। प्रभु श्री राम निश्चित रूप से ह्यूस्टनवासियों के हृदय में निवास करते हैं।

ये भी पढ़ें 

लालकृष्ण आडवाणी राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में होंगे शामिल

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा पर कांग्रेस में ही छिड़ी रार, प्रमोद कृष्णम ने कहा दिल …

राम मंदिर को लेकर पीएम मोदी ने मंत्रियों को दी सलाह, कहा…आस्था दिखाएं​ !

200 साल पहले के ‘या’ सिक्के से मिला सबूत, अंग्रेजों ने राम सिक्का चलाया था?

जाने कौन हैं सरस्वती देवी? जिन्होंने रामलला के लिए 30 साल से हैं मौन       

96 साल की शालिनी दबीर, जिन्होंने खाई थी गोली, मिला प्राण प्रतिष्ठा का न्योता      

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,794फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
126,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें