31 C
Mumbai
Sunday, May 19, 2024
होमदेश दुनियाचंद्रयान-3 की सफलता के लिए दुआओं का दौर, अमेरिका में भी हुआ...

चंद्रयान-3 की सफलता के लिए दुआओं का दौर, अमेरिका में भी हुआ हवन 

चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के लिए देश भर में हवन पूजा और नमाज पढ़ी जा रही है।           

Google News Follow

Related

चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के लिए कन्याकुमारी से लेकर जम्मू कश्मीर तक हवन पूजा और नमाज अदा की जा रही है। ओडिशा में चंद्रयान-3 की सफलता के लिए भुनेश्वर की एक मस्जिद में नमाज पढ़ी गई। वहीं, श्रीनगर के हजरतबल दरगाह में नमाज अदा की गई। केंद्रीय मंत्री  हरदीप सिंह पूरी दिल्ली के गुरुद्वारा बंगला साहिब में विशेष अरदास में शामिल हुए।

इसी तरह से महाराष्ट्र के गोरेगांव में चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के लिए संकल्प सिद्धि मंदिर में हवन किया गया। जबकि पुणे के श्री सिद्धिविनायक मंदिर में शिवसेना कार्यकर्ताओं ने आरती और पूजा-अर्चना की। एनसीपी कार्यकर्ताओं ने टेकड़ी गणेश मंदिर में पूजा किये। वहीं, उत्तराखंड के हरिद्वार में योग गुरु रामदेव ने हवन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि नासा में भी आज भारतीय वैज्ञानिकों का ही बोलबाला है। आज पूरी दुनिया भारतीयों की प्रतिभा की लोहा मान रही है।

हरिद्वार में ही माता वैष्णो देवी गुफा योग मंदिर टपकेश्वर महादेव के सहयोग से गंगा पूजन किया गया। पश्चिम बंगाल के कोलकाता के पाटुली उपनगरी  बिजनेस असोसिएशन द्वारा हवन का आयोजन किया गया। छतरपुर के बागेश्वर धाम, पूजा पाठ किया गया। वाराणसी में भी संतों ने चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के लिए हवन किया।

दिल्ली के शकरपुर में निर्मल साधना आश्रम में चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के लिए जन कल्याण समिति ने हवन किया। तमिलनाडु के रामेश्वरम अग्नि तीर्थम पुजारी कल्याण संघ ने भी चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के लिए अग्नि तीर्थम समुद्र तट पर प्रार्थना किये। राजस्थान के अजमेर शरीफ में भी प्रार्थना की गई। चंद्रयान -3 की सफल लैंडिंग के लिए गुजरात में भी पूजा अर्चना की गई। यहां के कडोदरा के हनुमान मंदिर पूजा की गई। वहीं, अमेरिका के न्यू जर्सी के मोनरो में ओम श्री साईं बालाजी मंदिर और सांस्कृतिक केंद्र में प्रार्थना की गई। वहीं अमेरिका के वर्जीनिया के एक मंदिर में भी हवन किया गया।

 

 

ये भी पढ़ें 

 

चंद्रयान-3 को चांद पर उतारने इसरो ने आज ही का दिन क्यों चुना, वजह जाने 

जब नासा के चीफ ने इसरो पर प्रतिबंध लगाने के लिए मांगी थी माफ़ी 

चंद्रयान-3 को चांद पर उतारने इसरो ने आज ही का दिन क्यों चुना, वजह जाने 

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,602फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
153,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें