30 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024
होमदेश दुनियातलाक, हलाला से परेशान, दो मुस्लिम महिलाओं ने हिन्दू युवकों से की...

तलाक, हलाला से परेशान, दो मुस्लिम महिलाओं ने हिन्दू युवकों से की शादी 

बुलंदशहर की रहने वाली शहाना ने इस्लाम धर्म छोड़कर हिन्दू धर्म अपनाकर ओमप्रकाश से बसंत पंचमी को शादी कर ली।

Google News Follow

Related

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर की रहने वाली शहाना ने इस्लाम धर्म छोड़कर हिन्दू धर्म अपनाकर ओमप्रकाश से बसंत पंचमी को शादी कर ली। अब शारदा नाम से जानी जाएगी। इसी तरह से बिहार के पूर्णिमा की रहने वाली नसीमा की शादी आगरा में हुई थी। नसीमा ने भी अपना धर्म बदलकर हिन्दू युवक से शादी रचा ली। दोनों महिलाओं का कहना है कि उनका शौहर ने उन्हें तलाक दे दिया था और उनका परिवार हलाल के बाद अपनाना चाहता था। इसके लिए उन पर  दबाव डाला जा रहा था। जिससे वे परेशान थीं। दोनों महिलाओं का कहना है कि वे अपनी मर्जी से शादी की है।

शहाना बनी शारदा
शहाना की शादी दो साल पहले मुस्लिम एक युवक से हुई थी। उसका पति कुछ नहीं करता था, और उसे प्रताड़ित करता था। इस बात को लेकर दोनों में अक्सर झगड़े होते रहते थे। इसके बाद उसका पति उसे तलाक दे दिया। जिसकी वजह से शहाना हमेशा परेशान रहा करती थी। इसी बीच उसकी मुलाक़ात बुलंदशहर के ओमप्रकाश से हुई। दोनों में दोस्ती के बाद प्यार हो गया और उन्होंने बसंत पंचमी को शादी कर ली। शाहाना का कहना है कि उसने तीन तलाक और  हलाला से परेशान होकर यह कदम उठाया।  उसने कहा कि उसका शौहर यह कहकर तलाक दे दिया कि उसे अब उसकी कोई जरुरत नहीं है। तब ओम प्रकाश ने उसका साथ दिया। मै ओमप्रकाश से प्यार करती हूं। उसने बताया कि वह इज्जत नगर के भीटा नाथ मंदिर में हिन्दू रीति रिवाज से शादी कर ली। उसने अपना धर्म बदल लिया है और उसका नाम  शारदा है।

नफीसा बनी मीनाक्षी
वहीं, नफीसा का कहना है कि उसकी दो साल पहले शादी  आगरा में हुई थी। उसकी डेढ़ साल की बेटी भी है। उसका कहना है कि शादी के बाद से उसका शौहर उसे परेशान करने लगा था। इसके बाद उसे एक बेटी भी हुई, लेकिन, इसके बावजूद छह माह पहले नफीसा को उसका पति तलाक दे दिया। उसने आरोप लगाया कि बाद में उसका पति हलाला के लिए दबाव बनाने लगा।  नफीसा का कहना है कि,लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं थी। इसके बाद उसने  हलाला का विरोध किया तो उसका शौहर और उसके ससुराल वाले उसे घर से निकाल दिया।

इसके बाद नफीसा अपने मायके पूर्णिमा आ गई। हालांकि, वह परेशान थी। इसी दौरान सोशल मीडिया के जरिये  उसी दोस्ती बरेली के रहने वाले मनोज शर्मा से हुई। नफीसा ने मनोज को अपने बारे में सब कुछ बता दिया। इसके दोनों ने शादी कर ली। नफीसा का कहना है कि उसने इस्लाम धर्म छोड़कर हिन्दू धर्म अपना लिया है। उसने अपना नाम बदलकर मीनाक्षी रख लिया है।  मनोज और मीनाक्षी ने बरेली के अगस्त्य मुनि आश्रम में 15 फरवरी को शादी कर ली है।

यह भी पढ़ें

केजरीवाल ने फिर बनाया नया बहाना?, कोर्ट से कहा अगली बार आऊंगा

“ममता, क्रूरता की रानी! BJP के बाद, अधीर रंजन को भी संदेशखाली जाने से रोका  

आंध्र की राजनीति में भूचाल!​ CID की नायडू पर गिरी गाज, करोड़ों के घोटाले में मुख्य आरोपी !

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,641फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें