26 C
Mumbai
Thursday, July 18, 2024
होमन्यूज़ अपडेटNavy Day 2023: इस साल सिंधुदुर्ग किले में मनाया जाएगा नौसेना दिवस

Navy Day 2023: इस साल सिंधुदुर्ग किले में मनाया जाएगा नौसेना दिवस

भारतीय कवच के जनक छत्रपति शिवाजी महाराज की उपलब्धियों को सलाम करने के लिए इस साल का नौसेना दिवस सिंधुदुर्ग किले में आयोजित किया गया है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में 4 दिसंबर को सिंधुदुर्ग किले में नौसेना दिवस मनाया जाएगा| ऐसे में प्रशासन ने योजना पर काम शुरू कर दिया है|

Google News Follow

Related

छत्रपति शिवाजी महाराज द्वारा निर्मित एकमात्र जलदुर्ग किला सिंधुदुर्ग किला है। भारतीय कवच के जनक छत्रपति शिवाजी महाराज की उपलब्धियों को सलाम करने के लिए इस साल का नौसेना दिवस सिंधुदुर्ग किले में आयोजित किया गया है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में 4 दिसंबर को सिंधुदुर्ग किले में नौसेना दिवस मनाया जाएगा| ऐसे में प्रशासन ने योजना पर काम शुरू कर दिया है|
महत्वपूर्ण अतिथियों के आगमन के लिए हेलीपैड स्थापित किए जाएंगे: सिंधुदुर्ग कलेक्टर किशोर तावड़े ने चिपी हवाई अड्डे, सिंधुदुर्ग किला, आंगनबाड़ी और सरकारी तरुण निकेतन विद्यालय, कुंभारमाठ में कुल सात हेलीपैड के निर्माण की योजना बनाने का निर्देश दिया है। साथ ही कलेक्टर ने विकासकर्ता कंपनी को चिप्पी एयरपोर्ट पर नाइट लैंडिंग सिस्टम लगाने के सख्त निर्देश दिए हैं| चूंकि नौसेना दिवस कार्यक्रम में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और विभिन्न गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहेंगे, इसलिए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने निर्देश दिया था कि कार्यक्रम भव्य और छत्रपति शिवाजी महाराज के अनुरूप होना चाहिए।
4 दिसंबर को सिंधुदुर्ग पहुंचेंगे दिग्गज नेता: इस साल भारतीय नौसेना दिवस सिंधुदुर्ग किले में मनाया जाएगा। इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उपमुख्यमंत्री समेत कई मंत्री मौजूद रहेंगे| इसके लिए मालवन में भारतीय नौसेना की कड़ी सुरक्षा रहेगी|
नौसेना दिवस कार्यक्रम के लिए अभी से तैयारियां: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने विकास कंपनी आईआरबी को चिप्पी हवाई अड्डे पर समय पर नाइट लैंडिंग सुविधा स्थापित करने का भी आदेश दिया है। पालकमंत्री रवींद्र चव्हाण भी इस योजना पर ध्यान दे रहे हैं| आयोजन को लेकर दिल्ली में बैठक भी हुई, इसलिए जिला प्रशासन ने चार दिसंबर को नौसेना दिवस कार्यक्रम की तैयारी शुरू कर दी है|
नौसेना दिवस की पृष्ठभूमि क्या है?: 1971 के भारत-पाक युद्ध में, भारतीय नौसेना ने कराची के पाकिस्तानी बंदरगाह पर हमला किया और भारतीय नौसेना के कारण पाकिस्तान युद्ध हार गया। भारतीय नौसेना की इस उपलब्धि के सम्मान में 4 दिसंबर को नौसेना दिवस मनाया जाता है। सिंधुदुर्ग किले की नींव 25 नवंबर 1664 को रखी गई थी, जहां इस साल नौसेना दिवस मनाया जा रहा है। इसे स्वराज्य का एक महत्वपूर्ण समुद्री किला माना जाता है।
यह भी पढ़ें-

‘अजित पवार को हमेशा के लिए निपटाने के लिए शरद पवार…’, कांग्रेस नेता का बयान!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,504फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
164,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें