27 C
Mumbai
Thursday, July 25, 2024
होमन्यूज़ अपडेटकिसकी मुंबई? किले पर किसका नाम है?; क्या है देवेन्द्र फड़णवीस का...

किसकी मुंबई? किले पर किसका नाम है?; क्या है देवेन्द्र फड़णवीस का दावा?

Google News Follow

Related

मुंबई बाला साहेब ठाकरे और भाजपा का गढ़ है| उद्धव ठाकरे का कोई गढ़ नहीं है|हमने इसे बार-बार दिखाया है। 2014 में हम पहली बार अलग-अलग लड़े, हमारे पास मुंबई में 15 सीटें थीं। उनके 14 आये|मुंबई नगर निगम में मैंने अलग से चुनाव लड़ा|वे 84 और हम 82 में आये। तो ये उद्धव ठाकरे का गढ़ नहीं है|उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस ने कहा कि उन्होंने हमसे ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़कर कम सीटें जीती हैं।

एक इंटरव्यू में उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बार-बार मुंबई क्यों आना पड़ता है? क्या मोदी को इसलिए आना पड़ेगा क्योंकि ये उद्धव ठाकरे का गढ़ है? उनसे ये सवाल पूछा गया| उस पर उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि मुंबई उद्धव ठाकरे का गढ़ नहीं है|

मुंबई ने बार-बार महायुति का समर्थन किया है। मुंबईवासी मोदी को ज्यादा पसंद करते हैं| पिछली बार मोदी ने मुंबई में दो सभाएं की थीं| इस समय मोदी का रोड शो और सभा करने का निर्णय लिया गया| मुंबईकरों के दिलों में मोदी हैं। देवेंद्र फड़णवीस ने कहा, इसीलिए मोदी बार-बार मुंबई आ रहे हैं।उन्होंने कहा कि लोग इस देश में मोदी को चाहते हैं|मुंबई में उनका आकर्षण है, जो आकर्षित होते हैं उनको निमंत्रित किया जाता है।अगर मोदी नहीं है तो हम एकनाथ शिंदे को घुमाते हैं| हमारे नेता शिंदे हैं|शिंदे के रोड शो और सभाएं उद्धव ठाकरे से भी बड़ी होती जा रही हैं|उन्होंने यह भी दावा किया कि उन्हें काफी अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है|

क्या ये संवेदनशीलता सिखाएगा?: घाटकोपर हादसे के बाद भी मोदी ने रोड शो किया था| उद्धव ठाकरे ने कहा था कि अब कोई मतलब नहीं बचा है| उस पर भी फड़णवीस ने ध्यान दिलाया| उन्होंने उद्धव ठाकरे के बयान पर संज्ञान लिया| क्या उद्धव ठाकरे को इस पर बोलने का अधिकार है? उनके समय में इस व्यक्ति को अवैध परमिट मिले थे, जब तक उन्हें ऊपर से आशीर्वाद नहीं मिला तब तक उन्हें अवैध अनुमतियाँ नहीं मिलीं। भिंडे उनके पक्ष में हैं| उनकी तस्वीरें आ गई हैं|

क्या वे हमें सहानुभूति सिखा रहे हैं? क्या उन्होंने वहां प्रचार करना बंद कर दिया? क्या उनकी बैठकें बंद थीं? उनकी बैठकें होती रहती हैं| शरद पवार कर सकते हैं बैठकें| और मोदी आये तो असंवेदनशील? ये नाटकीय लोग हैं| झूठे हैं| फडणवीस ने हमला बोलते हुए कहा कि उनके बारे में बात करना बुरा लगता है|

यह भी पढ़ें-

LS 2024: पूर्वोत्तर में बोले मोदी, ये लोग सत्ता में आये तो राम मंदिर पर बुलडोजर चलवा देंगे?

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,489फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
167,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें