29 C
Mumbai
Sunday, June 23, 2024
होमदेश दुनियामहिलाओं को लेकर दिए गए 'उस' विवादित बयान पर माफी मांगते हुए...

महिलाओं को लेकर दिए गए ‘उस’ विवादित बयान पर माफी मांगते हुए नीतीश कुमार ने कहा..!

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधानसभा में जनसंख्या नियंत्रण के लिए लड़कियों की शिक्षा की आवश्यकता पर प्रकाश डालते हुए एक विवादास्पद बयान दिया। इसके बाद विरोधियों ने इस बयान पर आपत्ति जताई और इसकी कड़ी आलोचना की|उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि यह बयान महिलाओं का अपमान है| इस बयान के बाद भारी आलोचना होने पर अब नीतीश कुमार ने माफी मांगी है|

Google News Follow

Related

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधानसभा में जनसंख्या नियंत्रण के लिए लड़कियों की शिक्षा की आवश्यकता पर प्रकाश डालते हुए एक विवादास्पद बयान दिया। इसके बाद विरोधियों ने इस बयान पर आपत्ति जताई और इसकी कड़ी आलोचना की|उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि यह बयान महिलाओं का अपमान है| इस बयान के बाद भारी आलोचना होने पर अब नीतीश कुमार ने माफी मांगी है| वह बुधवार (8 नवंबर) को मीडिया से बात कर रहे थे।

नीतीश कुमार ने कहा, ”मेरे बयान की काफी आलोचना हो रही है| अगर मैंने कुछ गलत कहा है तो मैं माफी मांगता हूं | मैं अपना बयान वापस लेता हूं. मैं उन लोगों का स्वागत करता हूं जो मेरी आलोचना करते हैं।”

नीतीश कुमार ने क्या कहा?: नीतीश कुमार ने विधानसभा में जनसंख्या नियंत्रण के लिए लड़कियों की शिक्षा की आवश्यकता पर प्रकाश डालते हुए एक विवादास्पद टिप्पणी की। इससे महिला विधायकों को खुजली होने लगी, जबकि पुरुष विधायक नाराज हो गये| उनके इस विवादित बयान के चलते अब विपक्षी पार्टियों ने उनकी आलोचना शुरू कर दी है| राज्य में विभिन्न विभागों की वित्तीय स्थिति का विवरण देने वाली जाति सर्वेक्षण की पूरी रिपोर्ट जारी होने के बाद नीतीश कुमार ने यह अभद्र टिप्पणी की|

नीतीश कुमार ने कहा था, ”एक लड़की सीखती है, एक बार जब उसकी शादी हो जाती है, तो पुरुष हर रात सेक्स करते हैं। इससे संतान की प्राप्ति होती है। हालांकि, अगर लड़कियाँ साक्षर होती हैं, तो प्रजनन दर गिर जाती है। यदि कोई लड़की अच्छी तरह से शिक्षित है, तो प्रजनन दर औसतन दो प्रतिशत तक गिर जाती है, और यदि वह स्कूली शिक्षा पूरी कर लेती है, तो राष्ट्रीय स्तर पर प्रजनन दर घटकर 1.7 प्रतिशत हो जाती है।
यह भी पढ़ें-

दांव या राजनीति: क्या नीतीश दिला पाएंगे पिछड़ों को 65 प्रतिशत आरक्षण?   

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,542फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
162,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें