26 C
Mumbai
Thursday, July 18, 2024
होमदेश दुनियाG20: समापन पर मोदी ने 'इस' देश को सौंपी अगले अध्यक्ष पद...

G20: समापन पर मोदी ने ‘इस’ देश को सौंपी अगले अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी !

विभिन्न देशों ने आर्थिक, वाणिज्यिक, बुनियादी ढांचे, कनेक्टिविटी और अन्य मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दो दिनों तक चली बैठक का समापन कर दिया है. साथ ही नवंबर 2023 तक G20 की अध्यक्षता भी भारत के पास है| इसके बाद राष्ट्रपति पद किसी दूसरे देश को सौंप दिया जाएगा. उसको लेकर भी मोदी ने बड़ा ऐलान किया है|

Google News Follow

Related

G20 शिखर सम्मेलन दिल्ली 2023: राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली के भारत मंडपम में पिछले दो दिनों से G20 शिखर सम्मेलन चल रहा था। सम्मेलन में विश्व के कई नेता और विभिन्न देशों के प्रतिनिधि शामिल हुए। इस सम्मेलन में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई, दिल्ली घोषणापत्र भी प्रकाशित किया गया।विभिन्न देशों ने आर्थिक, वाणिज्यिक, बुनियादी ढांचे, कनेक्टिविटी और अन्य मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दो दिनों तक चली बैठक का समापन कर दिया है. साथ ही नवंबर 2023 तक G20 की अध्यक्षता भी भारत के पास है| इसके बाद राष्ट्रपति पद किसी दूसरे देश को सौंप दिया जाएगा. उसको लेकर भी मोदी ने बड़ा ऐलान किया है|
जी20 के समापन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ”भारत के पास नवंबर तक जी20 की अध्यक्षता है| इसके लिए अभी ढाई महीने बचे हैं| इन दो दिनों में हम सबने अनेक सुझाव और प्रस्ताव दिये हैं। प्राप्त सुझावों पर विचार करना हमारी जिम्मेदारी है। नवंबर के अंत में G20 का वर्चुअल सत्र आयोजित किया जाएगा. इस सत्र में दो दिवसीय शिविर में शामिल मुद्दों की समीक्षा की जाएगी।
राज़ील को अगली G20 अध्यक्षता: ब्राज़ील के राष्ट्रपति और मेरे मित्र लूला डी सिल्वा को बधाई देते हुए, नरेंद्र मोदी ने ब्राज़ील के राष्ट्रपति को G20 अध्यक्षता का गैवेल (प्रतीक चिन्ह) सौंपा। यानी नवंबर 2023 के बाद ब्राजील G20 की अध्यक्षता संभालेगा| जी20 की अध्यक्षता संभालने के बाद लूला डी सिल्वा ने कहा कि “ब्राजील के राष्ट्रपति पद की तीन प्राथमिकताएं हैं, सामाजिक समावेशन – भूख के खिलाफ लड़ाई, ऊर्जा परिवर्तन – सतत विकास और वैश्विक शासन संस्थानों में सुधार।”

शिखर सम्मेलन के पहले दिन क्या हुआ?: G20 शिखर सम्मेलन दिल्ली 2023 ‘दिल्ली घोषणा’, जिसमें सीधे तौर पर यूक्रेन युद्ध का उल्लेख है जिसने ‘ग्लोबल साउथ’ के विकासशील देशों को सबसे अधिक प्रभावित किया है, को शिखर सम्मेलन के पहले दिन अपनाया गया था। ‘जी20’ समूह का शिखर सम्मेलन शनिवार को| इसे भारत की कूटनीतिक कूटनीति की बड़ी सफलता माना जा रहा है क्योंकि घोषणा पत्र में यूक्रेन का विवादास्पद मुद्दा भी शामिल है! विज्ञापन में प्रमुखता से लिखा गया है कि यह युद्ध का समय नहीं है|

कोरोना महामारी के कारण दुनिया भर के देशों के बीच विश्वास कम हुआ है और यूक्रेन में युद्ध ने इस अंतर को और बढ़ा दिया है। हम कोरोना जैसी आपदा से सफलतापूर्वक उबर चुके हैं और दुनिया अविश्वास के इस संकट से भी उबर सकती है।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-20 समूह के राष्ट्राध्यक्षों के शिखर सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में अपने भाषण में संदेश दिया कि एक बार फिर विश्वास का माहौल बनाना चाहिए और आगे बढ़ना चाहिए|
यह भी पढ़ें-

PM मोदी ने विदेशी मेहमानों से कराया नीतीश कुमार, हेमंत सोरेन का परिचय  

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,504फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
164,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें