27 C
Mumbai
Thursday, July 25, 2024
होमदेश दुनियाबांग्लादेश की पीएम शेख हसीना की 15 दिनों में दूसरी बार भारत...

बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना की 15 दिनों में दूसरी बार भारत दौरे पर!

बांग्लादेश और भारत की राजनीतिक यात्रा दोनों देशों के बीच घनिष्ठता और स्थायी संबंधों को रेखांकित करती है।

Google News Follow

Related

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना दो दिवसीय भारत दौरे पर हैं| वह दो हफ्ते के अंदर दूसरी बार भारत दौरे पर आ रहे हैं| हसीना ने 9 जून को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लिया। इस दौरान दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों पर गहन चर्चा की|बांग्लादेश और भारत की राजनीतिक यात्रा दोनों देशों के बीच घनिष्ठता और स्थायी संबंधों को रेखांकित करती है।

दोनों देशों के बीच विशेष संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए वे जो मार्गदर्शन दे रहे हैं वह सराहनीय है।आज शनिवार (22 जून) को शेख हसीना का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया जाएगा| यहां उनकी मुलाकात प्रधानमंत्री मोदी से होगी| प्रधानमंत्री मोदी और हसीना हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय औपचारिक वार्ता करेंगे| संभावना है कि शेख हसीना प्रधानमंत्री मोदी के साथ विभिन्न नीतिगत मुद्दों पर गहन चर्चा करेंगी|

भारत और बांग्लादेश के बीच नदी जल बंटवारे को लेकर दशकों से विवाद चल रहा है। दोनों देशों के बीच जल बंटवारे के मुद्दे को सुलझाने के लिए भारत के साथ बांग्लादेश भी प्रयास कर रहा है। इसलिए इस चर्चा में गंगा जल बंटवारा समझौते के साथ-साथ तीस्ता नदी जल विवाद को लेकर भी चर्चा होने की संभावना है|

इसके अलावा, बांग्लादेश को भारत से प्याज, अदरक, चावल और गेहूं की निरंतर आपूर्ति की आवश्यकता है। ऐसे विभिन्न विषयों पर महत्वपूर्ण चर्चा होने की संभावना है| एक ओर जहां भारत और बांग्लादेश के बीच बहने वाली दोनों नदियों गंगा और तीस्ता के जल बंटवारे को लेकर विवाद है| दूसरी ओर, चीन ने बांग्लादेश के लिए तीस्ता नदी के विकास के लिए एक अरब डॉलर की परियोजना शुरू करने की तैयारी दिखाई है। इसलिए, भारत ने चीन और बांग्लादेश में होने वाली ऐसी परियोजनाओं से सावधान रहने को प्राथमिकता दी है।

एक रिपोर्ट के अनुसार, इन विषयों के अलावा, प्रधान मंत्री मोदी और शेख हसीना के बीच म्यांमार की स्थिति पर भी चर्चा होने की संभावना है। मोंगला बंदरगाह के इस्तेमाल को लेकर भी चर्चा होने की संभावना है| यह बांग्लादेश का दूसरा सबसे बड़ा बंदरगाह है। भारत ने बांग्लादेश को अपने रक्षा क्षेत्र में विकास के लिए 500 मिलियन का ऋण देने का प्रस्ताव दिया है। अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है|

क्यों महत्वपूर्ण है यह यात्रा?: जनवरी से प्रधानमंत्री के रूप में अपना पांचवां कार्यकाल शुरू करने के बाद हसीना की यह पहली विदेश यात्रा है। सितंबर के बाद से वह तीसरी बार भारत आए हैं। यह बांग्लादेश द्वारा दोनों देशों के बीच संबंधों को दिए गए महत्व को रेखांकित करता है। प्रधानमंत्री मोदी के तीसरी बार सत्ता में आने के बाद भारत की इस तरह की राजनीतिक यात्रा करने वाली वह पहली विदेशी आगंतुक हैं।

भारत की ‘नेबरहुड फर्स्ट’ नीति के तहत बांग्लादेश एक महत्वपूर्ण देश बन गया है। दोनों देशों के बीच रक्षा, व्यापार, वाणिज्य, ऊर्जा, संचार, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, रक्षा और समुद्री मामलों जैसे क्षेत्रों में साझेदारी है। बांग्लादेश दक्षिण एशिया में भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है| दूसरी ओर, भारत एशिया में बांग्लादेश का दूसरा सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है। बांग्लादेश से उत्पादों के निर्यात के लिए भारत एक बहुत बड़ा बाजार है। बांग्लादेश ने 2022-23 में भारत को लगभग दो अरब डॉलर का निर्यात किया। 2022-23 में दोनों देशों के बीच 15.9 अरब डॉलर का व्यापार हुआ|

यह भी पढ़ें-

NEET Paper Leak: केंद्र का सख्त कानून, दस साल की सजा और 1 करोड़ जुर्माने का प्रावधान!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,489फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
167,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें