29 C
Mumbai
Monday, February 26, 2024
होमन्यूज़ अपडेट"पहले चिमनाबा पाटिल द्वारा गुला​ब राव पर...", संजय राउता की मुख्यमंत्री को...

“पहले चिमनाबा पाटिल द्वारा गुला​ब राव पर…”, संजय राउता की मुख्यमंत्री को चुनौती​ !

मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में इस संबंध में कई दावे किये​|​ये एक्टर्स अब इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं​|​विपक्ष ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधना शुरू कर दिया है​|​इसे लेकर ठाकरे समूह के सांसद और मुख्य प्रवक्ता संजय राउत ने एकनाथ शिंदे पर हमला बोला है​|​

Google News Follow

Related

शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने विधानसभा में विस्तृत भाषण दिया|​  इस भाषण में मुख्यमंत्री ने उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा|एकनाथ शिंदे ने आरोप लगाया कि जब उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री थे तब मुंबई नगर निगम में घोटाले हुए थे|मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में इस संबंध में कई दावे किये|ये एक्टर्स अब इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं|विपक्ष ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधना शुरू कर दिया है|इसे लेकर ठाकरे समूह के सांसद और मुख्य प्रवक्ता संजय राउत ने एकनाथ शिंदे पर हमला बोला है|
“मोस्ट टेंडर्ड एमएलए उनके पीछे”: एकनाथ शिंदे ने ठाकरे समूह पर मुंबई नगर निगम के टेंडरों में धांधली का आरोप लगाया। हालांकि, संजय राउत ने दावा किया है कि सबसे ज्यादा टेंडर जीतने वाले लोग आज शिंदे के साथ हैं|उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री ने क्या कहा, मैंने नहीं सुना। उनके जैसे नकली शासक महाराष्ट्र पर शासन कर रहे हैं।हॉल में उनके पीछे मुंबई नगर निगम में सबसे ज्यादा टेंडर डालने वाले विधायक और तत्कालीन स्थायी समिति के अध्यक्ष बैठे थे|उनका कहना है कि सबसे ज्यादा घोटाले हुए हैं|हम किसके बारे में बात कर रहे हैं? शायद मुख्यमंत्री को इसकी जानकारी नहीं है। ऐसा लगता है कि उनके पास भाजपा द्वारा लिखे गए भाषण को पढ़ने के अलावा कोई काम नहीं है।
इस बीच, संजय राउत ने कहा कि उन्होंने खुद मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कोविड घोटाले से संबंधित एक मामले की जांच करने का अनुरोध किया था। उन्हें स्पष्ट करना चाहिए कि क्या शिंदे समूह के विधायक चिमनराव आबा पाटिल ने एकनाथ शिंदे को पत्र देकर जलगांव में गुलाबराव पाटिल द्वारा दवाओं की खरीद सहित कोविड अवधि के दौरान की गई करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी की जांच करने के लिए कहा है। मेरे पास वह पत्र है|यह 27 करोड़ का घोटाला है|तत्कालीन सिविल सर्जन को निलंबित कर दिया गया था|उस समय के सभी सूत्र गुलाबराव पाटिल तक पहुँचते हैं​|
एकनाथ शिंदे को संजय राऊत की चुनौती: पहले अपनी गोद में बैठे लोगों को देखो|भ्रष्टाचारियों ने उनकी जांघें कुचल दी हैं|पहले चिमनाबा पाटिल द्वारा की गई शिकायतों की जांच करें। फिर आप मुंबई नगर निगम आ जाएं|तो जब हम मुंबई नगर निगम में थे तब क्या हुआ था? इसका कारण कौन है? आपके आसपास के रचनाकार कैसे हैं? आपने उनकी सुरक्षा कैसे की है? आइए इसे सबूत के साथ पेश करें।
मुख्यमंत्री देंगे इस्तीफा?: इस बीच, कुछ पत्रकारों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सोशल मीडिया पर चल रहे इस ट्रेंड पर सवाल उठाया कि मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए|संजय राउत ने तीखे शब्दों में दिया जवाब|कौन लोग इस्तीफा नहीं दे रहे हैं। हिटलर ने भी इस्तीफा नहीं दिया था|उसने आत्महत्या कर ली|इतिहास हमें बताता है कि नाजायज़ शासकों को या तो लोगों ने हटा दिया या भाग गए। यह किसी के बारे में मेरी निजी राय नहीं है।
​यह भी पढ़ें-

मुंबई: खोजी कुत्ते और 10 साल की बच्ची ने बैंक डकैती में दो लुटेरों को मार गिराया​ ​!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,750फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
131,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें