36 C
Mumbai
Thursday, February 29, 2024
होमदेश दुनियाबिहार की 4 वो महान विभूतियां जिन्हें कर्पूरी ठाकुर से पहले मिल...

बिहार की 4 वो महान विभूतियां जिन्हें कर्पूरी ठाकुर से पहले मिल चुका है भारत रत्न   

देश के पहले राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद, डॉक्टर विधानचंद्र राय, जेपी नारायण और शहनाई वादक उस्ताद बिस्मिल्लाह खां शामिल है।

Google News Follow

Related

बिहार के पूर्व सीएम कर्पूरी ठाकुर को 5 वें बिहारी हैं जिन्हें भारत रत्न से नवाजा जाएगा। इससे पहले देश के पहले राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद, डॉक्टर विधानचंद्र राय, जेपी नारायण और शहनाई वादक उस्ताद बिस्मिल्लाह खां शामिल है। कर्पूरी ठाकुर को देश और राज्य में लोकप्रियता के कारण उन्हें जननायक कहा जाता है। उनकी जन्म शताब्दी के मौके की पूर्व संध्या पर यानी मंगलवार को राष्ट्रपति भवन द्वारा भारत रत्न देने का ऐलान किया गया।

कर्पूरी ठाकुर 22 दिसंबर 1970 से लेकर 2 जून 1971 तक और 24 जून 1977 से लेकर 21 अप्रैल 1979 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे हैं। उन्हें यह सम्मान मरणोपरांत दिया जा रहा है। उनका जन्म 24 जनवरी 1924 को बिहार के समस्तीपुर जिले में हुआ था। वह नाई परिवार से संबंध थे। जबकि उनके पिता गोकुल ठाकुर एक किसान थे। कर्पूरी ठाकुर अपनी प्रारंभिक शिक्षा गांव में ही प्राप्त की थी। इसके बाद उन्होंने पटना विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि प्राप्त की थी।

कर्पूरी ठाकुर ने 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन में भी भाग लिया था और 26 माह तक जेल में रहे थे। 1952 में पहली बार कर्पूरी ठाकुर को बिहार विधानसभा का सदस्य चुना गया था। कर्पूरी ठाकुर सोशलिस्ट पार्टी से चुनाव लड़ा था और जीत दर्ज की थी। कर्पूरी ठाकुर लगातार चार बार विधानसभा के सदस्य रहे हैं। कर्पूरी ठाकुर को 1967 में बिहार का उपमुख्यमंत्री बनाया गया था। इसके बाद कर्पूरी ठाकुर 1970 में बिहार के मुख्यमंत्री बने। उन्होंने गरीबों दलितों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलाए।

कर्पूरी ठाकुर से पहले बिहार की चार और विभूतियों को भारत रत्न दिया जा चुका है। जिसमें डॉक्टर विधान चंद्र राय को 1961 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। इसके बाद डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद को राजनीतिक और सामाजिक योगदान के लिए उन्हें 1962 में भारत रत्न दिया गया था। 1999 में लोकनायक जयप्रकाश नारायण को भारत रत्न दिया गया। 2001 में शहनाई वादक बिस्मिल्लाह खां को भारत रत्न दिया गया था। बताते चले कि बिहार की सभी महान विभूतियों को मरणोपरांत भारत रत्न दिया गया है। बता दें कि,कर्पूरी ठाकुर को लंबे समय तक भारत रत्न देने की मांग की जा रही थी।

कर्पूरी ठाकुर के बेटे डॉक्टर बीरेंद्र ठाकुर ने कहा कि देश के सच्चे राजपूत को सम्मान मिला है। हमें पूरा विश्वास था की एक पिताजी को भारत रत्न जरूर मिलेगा। आज वह दिन आ गया है। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रगुजार हूं।  उन्होंने कहा कि मेरे पिता जी गरीबों और वंचितों की सेवा के लिए हमेशा तत्पर रहे हुए सादगी की मिसाल हैं। उन्होंने हमें भी यही सिखाया की गरीबों की हमेशा सेवा करो और पढ़ाई करो।

वहीं नीतीश कुमार ने भी कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिए जाने पर पीएम नरेंद्र मोदी का धन्यवाद किया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कर ख़ुशी जाहिर की। हालांकि, सीएम नीतीश कुमार ने पहले पोस्ट में पीएम मोदी का जिक्र नहीं किया था,लेकिन बाद में बीजेपी कार्यकर्ताओं के विरोध पर उन्होंने पोस्ट को एडिट कर पीएम मोदी को धन्यवाद किया।

ये भी पढ़ें 

दूसरे विग्रह की तस्वीर आई सामने, श्वेत वर्ण की मूर्ति में हैं हनुमान  

कांग्रेस नेता ने PM Modi के उपवास पर उठाया सवाल, महाराज ने दिया जवाब  

राहुल गांधी के आंखों पर राजनीति की पट्टी, इसलिए नहीं दिख रही “राम लहर”!   

UNSC में स्थायी सदस्य क्यों नहीं भारत?, मस्क ने पावरफुल देशों पर उठाए सवाल

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,746फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
132,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें