28 C
Mumbai
Sunday, June 16, 2024
होमन्यूज़ अपडेटMaratha Reservation :“कब तक तुम हमें पागल बनाओगे?” अजित पवार से मनोज...

Maratha Reservation :“कब तक तुम हमें पागल बनाओगे?” अजित पवार से मनोज जरांगे का सवाल!

मनोज जरांगे पाटिल अपनी मांग पर अड़े हुए हैं|इस बीच उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने आरक्षण के मुद्दे पर सरकार की स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि कोई भी मांग करे, सरकार को कानून के दायरे में रहकर काम करना होगा| आरक्षण कानून के दायरे में रहकर दिया जाना चाहिए।

Google News Follow

Related

मराठा आरक्षण को लेकर महाराष्ट्र में सियासी माहौल गरमा गया है|मनोज जरांगे पाटिल ने चेतावनी दी है कि राज्य सरकार 24 दिसंबर तक मराठा आरक्षण का मुद्दा सुलझाए, अन्यथा हमें गंभीर आंदोलन का सामना करना पड़ेगा| इस बीच गुरुवार (21 दिसंबर) को कैबिनेट मंत्री गिरीश महाजन कुछ अन्य नेताओं के साथ अंतरवाली सराती गए और मनोज जरांगे से मुलाकात की और विस्तार की मांग की| हालांकि, मनोज जरांगे पाटिल अपनी मांग पर अड़े हुए हैं|इस बीच उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने आरक्षण के मुद्दे पर सरकार की स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि कोई भी मांग करे, सरकार को कानून के दायरे में रहकर काम करना होगा|आरक्षण कानून के दायरे में रहकर दिया जाना चाहिए।
अजित पवार के इस बयान पर मनोज जरांगे पाटिल ने प्रतिक्रिया दी है| जरांगे पाटिल ने कहा, हमने कानून के दायरे से बाहर कुछ भी नहीं मांगा है| 54 लाख मराठों के कुनबी अभिलेख मिले हैं। किसी अन्य समुदाय के लोगों के इतने रिकॉर्ड नहीं मिले हैं। जिन लोगों को पहले आरक्षण दिया गया है, उनमें से कई समुदायों का कोई रिकॉर्ड नहीं है, कई समुदाय पिछड़े साबित नहीं हुए हैं, फिर भी उन्हें आरक्षण दिया गया है।
लेकिन, मराठों के पास रिकॉर्ड हैं, ये साबित हो चुका है कि वो पिछड़े हैं, फिर भी मराठा समुदाय को आरक्षण नहीं दिया गया| क्या सरकार की नजर में कानूनी ढांचा उल्टा हो गया है? क्या उन समुदायों को आरक्षण देने के लिए जिनके पास कोई रिकॉर्ड नहीं है, जो पिछड़े साबित नहीं हुए हैं और जो पिछड़े साबित हुए हैं या जिनके पास रिकॉर्ड हैं उन्हें आरक्षण नहीं देने के लिए सरकार की उलटी रूपरेखा है? और कितने दिन हमें पागल करोगे?
मराठा आरक्षण के लिए लड़ने वाले जरांगे पाटिल ने कहा, लोग अब स्मार्ट हो गए हैं| तुमने सोचा कि तुम होशियार हो और लोगों को पागल कर दिया। लेकिन, अब ऐसा नहीं चलेगा| मराठा समाज कब तक अन्याय सहेगा? हमें आरक्षण चाहिए. मराठा समुदाय को केवल ओबीसी में आरक्षण मिल सकता है और हम इसे लेकर रहेंगे| 

इस बीच, मनोज जरांगे पाटिल ने शुक्रवार को परभणी के सेलु में एक सार्वजनिक बैठक की। इस बार उन्होंने राज्य सरकार को कड़ी चेतावनी दी है| पाटिल ने कहा, सरकार को कम से कम होश में आना चाहिए और दोबारा लाठी चलाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए| नहीं तो आपका महाराष्ट्र में घूमना मुश्किल हो जाएगा| अब हम पीछे नहीं हटेंगे| 

यह भी पढ़ें-

जाने किस मुहूर्त में होगा रामलला की प्राण प्रतिष्ठा, जाने सबकुछ   

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,561फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
161,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें