26 C
Mumbai
Thursday, July 18, 2024
होमदेश दुनियाSupreme Court का बिहार की जाति जनगणना पर रोक लगाने से इंकार

Supreme Court का बिहार की जाति जनगणना पर रोक लगाने से इंकार

2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की जयंती पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जाति जनगणना का आंकड़ा जारी किया था। जिसमें बिहार की कुल आबादी 13 करोड़ से ज्यादा बताया गया है। 

Google News Follow

Related

शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार द्वारा कराये गए जातिगत जनगणना पर रोक लगाने से इंकार कर दिया। कोर्ट ने यह भी कहा कि वह किसी भी राज्य को फैसला लेने से नहीं रोक सकती है। बता दें कि इस मामले में एक गैर सरकारी संगठन “एक सोच.एक प्रयास” सहित कई अन्य  लोगों द्वारा याचिका दायर की गई थी। नालंदा निवासी अखिलेश कुमार द्वारा भी एक याचिका दायर की गई थी। जिसमें कहा गया था कि जातिगत जनगणना के लिए जारी अधिसूचना असंवैधानिक है।

गौरतलब है कि  इसी माह 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की जयंती पर बिहार के मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार ने जाति जनगणना का आंकड़ा जारी किया था। जिसमें बिहार की कुल आबादी 13 करोड़ से ज्यादा बताया गया है। इसके पक्ष  जेडीयू, आरजेडी कांग्रेस सहित कई  राजनीति दल पक्ष में थे। उनका कहना है कि इससे पिछड़ी, अतिपिछड़ी जातियों के विकास में मदद मिलेगी। शीर्ष अदालत ने कहा कि “हम अभी किसी चीज पर रोक नहीं लगा रहे हैं। हम किसी राज्य सरकार या किसी भी सरकार को नीतिगत फैसले लेने से नहीं रोक सकते हैं। यह गलत होगा ” दरअसल, याचिकाकर्ताओं ने सरकार द्वारा जारी किये गए आंकड़ों पर रोक लगाने की मांग की थी।

जनगणना के अनुसार ओबीसी (पिछड़ी ) 27.13 प्रतिशत, अत्यंत अति पिछड़ा वर्ग 36. 01 प्रतिशत, सामान्य 15.52 प्रतिशत ,एससी 19 प्रतिशत  और एसटी 1.68 प्रतिशत है। सामान्य वर्ग 15.52 प्रतिशत, भूमिहार 2. 86 प्रतिशत, ब्राह्मण 3. 66 प्रतिशत, कुर्मी 2. 87 प्रतिशत, मुसहर  3 प्रतिशत, यादव 14 प्रतिशत, राजपूत 3. 45 प्रतिशत है। जनगणना में यह भी सामने आया है कि बिहार में  82 प्रतिशत हिन्दू , 17.7 प्रतिशत मुसलमान, .05 प्रतिशत ईसाई, . 08 प्रतिशत बौद्ध, जबकि . 0016 प्रतिशत ऐसे लोग हैं जिनका कोई धर्म ही नहीं है। बिहार की कुल आबादी की बात की जाए तो 13 करोड़ 7 लाख 310 है।

ये भी पढ़ें 
 

हरित व्यवसायों में निवेश: भविष्य की ओर एक स्मार्ट कदम  

सिक्किम बाढ़ में 40 लोगों की मौत,एक और झील के फटने की चेतावनी 

नेशनल शूटर के पति को आजीवन कारावास, हसन, रंजीत बनकर दिया था धोखा        

मुंबई में 7 मंजिला इमारत में लगी आग, 7 की मौत, 45 गंभीर रूप से झुलसे  

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,504फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
164,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें