33 C
Mumbai
Tuesday, May 21, 2024
होमधर्म संस्कृतिजानिये 22 जनवरी को ममता बनर्जी और उद्धव ठाकरे क्या करेंगे, क्या...

जानिये 22 जनवरी को ममता बनर्जी और उद्धव ठाकरे क्या करेंगे, क्या है प्लान?

22 जनवरी को राम मंदिर उद्घाटन समारोह का विपक्ष के सभी राजनीतिक दल बहिष्कार कर चुके हैं. कांग्रेस, टीएमसी, सपा आदि पार्टियों के नेता इस समारोह में नहीं जाने की बात कह चुके हैं.

Google News Follow

Related

अयोध्या में बन रहे राम मंदिर पर राजनीति चरम पर है। 22 जनवरी को राम मंदिर का उद्घाटन किया जाना है,इस समारोह में शामिल होने के लिए लगभग आठ हजार लोगों को न्योता भेजा जा रहा है। इस समारोह का विपक्ष के सभी राजनीतिक दल बहिष्कार कर चुके हैं. कांग्रेस, टीएमसी, सपा आदि पार्टियों के नेता इस समारोह में नहीं जाने की बात कह चुके हैं.लेकिन 22 जनवरी को खुद को हिन्दुओं का सबसे बड़ा परोपकार बताने के लिए उस दिन अपने आसपास के मंदिर में जाने का ऐलान किये हैं।

उद्धव ठाकरे: 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाले कार्यक्रम के लिए अभी तक उन्हें न्योता नहीं मिला है। इससे उद्धव गुट परेशान और हैरान है। न्योता नहीं मिलने पर आये दिन उद्धव ठाकरे और संजय राउत बीजेपी पर जुबानी हमला बोल रहे हैं। अब इस दिन उद्धव ठाकरे नासिक में स्थित कालाराम मंदिर में पूजा पाठ करेंगे, इसके लिए उन्होंने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को भी आमंत्रण भेजा है। दरअसल, उद्धव ठाकरे अपने सबसे बड़ा हिन्दूवादी घोषित करने के लिए यह कदम उठाये हैं। यह सब हिन्दू वोटरों को अपने पाले में लाने की कोशिश है। उद्धव और अन्य नेताओं को यह डर है कि पीएम मोदी 22 जनवरी को राम मंदिर का उद्घाटन कर हिन्दुओं को अपने पाले में कर लेंगे और 2024 के लोकसभा में चुनाव में इसका उन्हें लाभ मिलेगा।

ममता बनर्जी: पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने ऐलान किया है कि वे 22 जनवरी को काली मंदिर जाएंगी और पूजा अर्चना के बाद रैली करेंगी। उन्होंने कहा है कि वे उस दिन मंदिर मस्जिद, गुरुद्वारा सभी धार्मिक स्थलों पर जाएगी। उन्होंने इस दौरान सभी धर्मो के लोगों को निकलने वाली रैली में शामिल होने की अपील की है। ममता बनर्जी ने ब्लॉक स्तर के टीएमसी नेताओं को भी रैली निकालने के लिए कहा है।

अरविंद केजरीवाल: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समय समय पर खुद को हनुमान भक्त बताते रहे हैं. मंगलवार को दिल्ली में कई स्थानों पर सुंदर पाठ का आयोजन किया गया . जिसमें आम आदमी पार्टी के कई नेता और मंत्री भी शामिल हुए ,खुद केजरीवाल दिल्ली के रोहिणी में स्थित बालाजी मंदिर में पूजा अर्चना करने साथ ही सुंदर पाठ किया. दरअसल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को हर महीने के पहले मंगलवार को पूरे दिल्ली में सुंदरकांड और हनुमान चालीसा पाठ करने ऐलान का किया था . यह आयोजन दिल्ली के सभी विधानसभा में आयोजित किया जाएगा .

राहुल गांधी: कांग्रेस ने अयोध्या में होने वाले 22 जनवरी के समारोह में शामिल नहीं होगी. इससे पहले वह 14 जनवरी के मणिपुर से भारत जोड़ो न्याय यात्रा निकाल रही है. यह यात्रा 15 राज्यों से होकर गुजरेगी और 20 मार्च को इसका सम्मान मुंबई में होगा .यह यात्रा लगभग 110 जिलों से होकर गुजरेगी और इसकी कुल दूरी 6700 किलोमीटर होगी .

ये भी पढ़ें

SC ने मथुरा शाही ईदगाह के सर्वे पर लगाई रोक, अब इस तारीख को सुनवाई

”प्राण प्रतिष्ठा समारोह​”: ​आरोप-प्रत्यारोप और राजनीति का कब्जा !

बॉलीवुड का फ़िल्मफ़ेयर कार्यक्रम​: जयंत ​पाटिल की टिप्पणी; कहा, ”मुंबई की वित्तीय नब्ज…”​!

ज्ञानवापी केस: “शिवलिंग” के आसपास की होगी सफाई, SC ने किया ये आदेश

‘यहां तभी लौटूंगा जब बनने लगेगा राम मंदिर’: 32 साल पहले अयोध्या पहुंचे थे मोदी

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,601फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
154,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें