27 C
Mumbai
Thursday, July 25, 2024
होमदेश दुनियाइंटरनेशनल स्पेस स्टेशन: अंतरिक्ष में फंसी सुनीता विलियम्स पर NASA का बयान!

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन: अंतरिक्ष में फंसी सुनीता विलियम्स पर NASA का बयान!

नासा में कार्यरत भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स स्टारलाइनर अंतरिक्ष यान में खराबी के कारण पिछले कई दिनों से अंतरिक्ष में फंसी हुई हैं।

Google News Follow

Related

अंतरिक्ष यात्रियों को इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन तक ले जाने वाले बोइंग स्टारलाइनर को लेकर एक बड़ा खुलासा सामने आया है। नासा में कार्यरत भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स स्टारलाइनर अंतरिक्ष यान में खराबी के कारण पिछले कई दिनों से अंतरिक्ष में फंसी हुई हैं। 5 जून को लॉन्च होने के बाद से कैप्सूल को पांच बार हीलियम लीक का सामना करना पड़ा है। यह भी बताया गया है कि पांच थ्रस्टर बंद हो गए हैं और स्टारलाइनर के पास अगले 45 दिनों के लिए ईंधन की आपूर्ति है। इसका मतलब है कि अंतरिक्ष में चालक दल और ह्यूस्टन में मिशन प्रबंधकों को मध्य-मिशन मरम्मत में अधिक समय बिताना होगा।

अंतरिक्ष में रूस की एक सैटेलाइट पूरी तरह से नष्ट हो गया है|और वह अंतरिक्ष में 100 से ज्यादा अधिक टुकड़ों में टूट गई, जिसके कारण अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर मौजूद अंतरिक्ष यात्रियों को लगभग एक घंटे तक शेल्टर लेना पड़ा| अंतरिक्ष में पहले से ही कचरा मौजूद है ऐसे में रूस की सैटेलाइट तबाह होने के बाद कचरा और भी बढ़ गया है|रूस की जिस सैटेलाइट में विस्फोट हुआ उसका नाम RESURS-P1 कहा जा रहा है|

हालांकि इस बात की अभी जानकारी नहीं है कि ये कैसे टूटा है|वहीं विशेषज्ञों का ऐसा अनुमान है कि किसी मिसाइल ने इसे निशाना बनाया है|रूस ने इसे 2022 में ही मृत घोषित कर दिया था|अंतरिक्ष के मलबे पर नजर रख रहे अमेरिकी अंतरिक्ष कमांड ने कहा कि रूस की सैटेलाइट से किसी भी दूसरी सैटेलाइट को कोई खतरा नहीं है|

स्पेस कमांड ने बताया कि यह घटना बुधवार को माउंटेन टाइम के अनुसार सुबह करीब 10 बजे हुई|नासा के स्पेस स्टेशन कार्यालय ने बताया कि यह घटना स्पेस स्टेशन के पास की कक्षा में हुई, जिसकी वजह से आईएसएस के यात्रियों को करीब एक घंटे तक अपने अंतरिक्ष यान में शरण लेनी पड़ी|इसके अलावा सैटेलाइट का संचालन करने वाली करने वाली रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोस्मोस ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है, न ही अपने सोशल मीडिया चैनलों पर इस घटना को सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया|

इस बीच,नासा के वाणिज्यिक क्रू प्रबंधक स्टीव स्टिच ने मीडिया को बताया कि स्टारलाइनर को 45 दिनों तक अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर डॉक किया जा सकता है।सुनीता विलियम्स ने दूसरी बार अंतरिक्ष से उड़ान भरी है|वह और उनके सहयोगी बुच विल्मोर 5 जून को बोइंग के स्टारलाइनर अंतरिक्ष यान पर सवार होकर अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पहुंचे। इस बीच, नासा के सूत्रों के मुताबिक, स्टारलाइनर के 6 जुलाई को पृथ्वी पर लौटने की बात कही जा रही है।

यह भी पढ़ें-

पश्चिम बंगाल में शर्मसार हुई मानवता, महिला को निर्वस्त्र कर पीटा!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,489फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
167,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें