27 C
Mumbai
Thursday, July 25, 2024
होमदेश दुनियाखत्म होगी वेटिंग लिस्ट? सभी को मिलेगा कन्फर्म टिकट, रेलवे का मेगा...

खत्म होगी वेटिंग लिस्ट? सभी को मिलेगा कन्फर्म टिकट, रेलवे का मेगा प्लान?

इस यात्रा में सबसे बड़ी कठिनाई लंबी दूरी की ट्रेनों में कन्फर्म सीट मिलना है। रेलवे टिकट बुक करने वाले कई यात्रियों के टिकट वेटिंग कैटेगरी में रहते हैं|

Google News Follow

Related

भारतीय रेलवे दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है। प्रतिदिन लाखों यात्री एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के लिए ट्रेनों का उपयोग करते हैं। कम किराए और देश के लगभग हर प्रमुख शहर में ट्रेनों की उपलब्धता के कारण भारत में ट्रेनें परिवहन का सबसे पसंदीदा साधन हैं। हालांकि, इस यात्रा में सबसे बड़ी कठिनाई लंबी दूरी की ट्रेनों में कन्फर्म सीट मिलना है। रेलवे टिकट बुक करने वाले कई यात्रियों के टिकट वेटिंग कैटेगरी में रहते हैं|

ऐसे में कई यात्रियों को जनरल क्लास कोच में यात्रा करनी पड़ रही है| हालांकि, अब यात्रियों को इस समस्या से निजात मिल जानी चाहिए| हर यात्री को कन्फर्म सीट मिले इसके लिए सरकार गंभीरता से काम कर रही है। इसके मुताबिक, सरकार ने 2032 तक हर यात्री को कन्फर्म सीट मुहैया कराने का लक्ष्य रखा है।

ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट की समस्या खत्म करने के लिए सरकार कई स्तरों पर काम कर रही है| रेल मंत्रालय का लक्ष्य आरक्षण सीटों की मांग और आपूर्ति के बीच अंतर को कम करना है। इस योजना के तहत क्षमता और दक्षता बढ़ाने के लिए रेलवे संरचना में संशोधन करके रेलवे सेवाओं को मजबूत किया जा रहा है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि सरकार का लक्ष्य इस दशक के अंत तक प्रतीक्षा सूची को पूरी तरह खत्म करना है।

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि आने वाले वर्षों में यात्रियों की मांग को पूरा करने के लिए नई ट्रेनें खरीदने पर 1 लाख करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसी तरह पुराने रोलिंग स्टॉक को बदला जाएगा, जिससे रेलवे बेड़े में 7 से 8 हजार नई ट्रेनें जुड़ेंगी। वेटिंग टिकटों की समस्या को दूर करने के लिए रेलवे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का भी इस्तेमाल करेगा।

भारतीय रेलवे ट्रेनों में उपलब्ध सीटों का उचित उपयोग करने का प्रयास कर रहा है ताकि अधिक से अधिक यात्रियों को कन्फर्म टिकट दिया जा सके। रेलवे चलती ट्रेनों में आरएसी और वेटिंग टिकट (WATING) यात्रियों को बर्थ आवंटित करने के लिए ‘एआई’ तकनीक का उपयोग करेगा। इसलिए टीसी मनमानी नहीं कर सकेगी। रेलवे सूचना प्रणाली केंद्र रेलवे की इन-हाउस सॉफ्टवेयर शाखा है और एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को विकसित कर रही है।

पिछले साल इसका सफल परीक्षण किया जा चुका है| इस ‘एआई’ मॉड्यूल से ट्रेन टिकट कैसे बुक किए जाते हैं। किस गंतव्य स्थान पर सबसे अधिक बुकिंग है, इसके बारे में तुरंत जानकारी प्राप्त करें। रेल मंत्री ने कहा कि AI के डेटा की मदद से रेलवे करीब 6 फीसदी ज्यादा कन्फर्म टिकट जारी कर सकेगा|

यह भी पढ़ें-

शक्तिपीठ हाईवे ​पर​ सरकार ​का​ बड़ा फैसला? ​सीएम​ की भूमिका स्पष्ट; कहा, “​किसानों​ को…”

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,489फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
167,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें