26 C
Mumbai
Sunday, February 25, 2024
होमराजनीति"भारत न्याय यात्रा" का नाम बदला, अब गठबंधन के नेताओं को भी न्योता ...

“भारत न्याय यात्रा” का नाम बदला, अब गठबंधन के नेताओं को भी न्योता   

अब इसे "भारत जोड़ो न्याय यात्रा" के नाम से जाना जाएगा।

Google News Follow

Related

कांग्रेस ने राहुल गांधी की अगुवाई में निकलने वाली “भारत न्याय यात्रा” का नाम बदल दिया गया है। अब इसे “भारत जोड़ो न्याय यात्रा” के नाम से जाना जाएगा। सबसे बड़ी बात यह है कि इस यात्रा में विपक्ष के नेताओं को भी शामिल किया जाएगा। राहुल गांधी और मल्लिकार्जुन खरगे ने एक बैठक में यह फैसला लिया। इस बैठक में सभी प्रदेश अध्यक्ष और विधायक दल के नेता मौजूद रहेंगे। 

कांग्रेस नेता ने बताया जयराम रमेश ने बताया कि “भारत जोड़ो न्याय यात्रा” को लेकर राहुल गांधी और अन्य नेताओं ने बैठक में चर्चा की। जिसमें इस नाम पर सर्वसम्मति से इस पर फैसला लिया गया। उन्होंने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा एक ब्रांड बन गया है और इसे बुलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने कहा कि इस यात्रा ने लोगों के दिल में जगह बनाई है। कन्याकुमारी से कश्मीर तक यह यात्रा निकाली गई। जिसका असर भी देखने को मिला। उन्होंने बताया कि यह यात्रा की शुरुआत 14 जनवरी को मणिपुर की राजधानी इंफाल से शुरू होगी। 

इसकी कुल यात्रा 6700 किलोमीटर होगी। बता दें कि, पहले इस यात्रा में अरुणाचल प्रदेश को शामिल नहीं किया गया था। लेकिन इस बार अरुणाचल प्रदेश को भी शामिल किया गया। गौरतलब है कांग्रेस के इस यात्रा में अरुणाचल प्रदेश को शामिल नहीं किये जाने पर बीजेपी नेता कांग्रेस की आलोचना की थी और कहा था कि कांग्रेस अरुणाचल में यात्रा नहीं निकालकर चीन को खुश करना चाहती है।      

यह यात्रा  मणिपुर से नागालैंड ,असम, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय होते हुए बंगाल पहुंचेगी। अब यह यात्रा 14 के बजाय 15 राज्यों से होकर गुजरेगी। जिसका सफर 6700 किलोमीटर होगा। बताया जा रहा है कि इस यात्रा में इंडिया गठबंधन के नेताओं को भी आमंत्रित किया जाएगा। यह यात्रा मणिपुर में एक दिन, नागालैंड में दो दिन, असम में 8 दिन, वेस्ट बंगाल में 5 दिन, बिहार में 4 दिन  उत्तर प्रदेश में 11 दिन, झारखंड में 8 दिन, नासिक में 4 दिन मध्य प्रदेश में 7 दिन , राजस्थान में 1 दिन, गुजरात में 5 दिन और महाराष्ट्र में भी 5 दिन रहेगी। 

इस यात्रा में कुल 67 दिन लगेंगे और 6713 किलोमीटर की दुरी तय की जाएगी। इस दौरान 110 जिलों को कवर किया जाएगा। वहीं, 100 लोकसभा क्षेत्र के 337 सीटों कवर किया जाएगा। 

ये भी पढ़ें   

अयोध्या यात्रा के दौरान चाय का आनंद लेने वाले परिवार को मोदी का पत्र​ ​!

अधीर रंजन चौधरी का बयान, ‘ममता बनर्जी से भीख नहीं मांगी’, ‘इंडिया अलायंस’ विवाद कगार पर?

कौन हैं YS शर्मिला जो अपने भाई के खिलाफ कांग्रेस से मिलाया हाथ?     

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें