30 C
Mumbai
Sunday, June 23, 2024
होमदेश दुनियाबिहार में दरोगा को बालू माफिया ने ट्रैक्टर से कुचला, शिक्षामंत्री ने...

बिहार में दरोगा को बालू माफिया ने ट्रैक्टर से कुचला, शिक्षामंत्री ने बताया सामान्य…               

Google News Follow

Related

बिहार जमुई में एक दरोगा को बालू माफिया ने ट्रैक्टर से कुचलकर मार डाला। इस पर बिहार के शिक्षामंत्री चंद्रशेखर ने अजीबो गरीब बयान दिया है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटना तो होती रहती है। वहीं, विपक्ष जहां इस घटना को लेकर हमलावर है ,वहीं चंद्रशेखर का बयान आग में घी का काम किया है। विपक्ष का कहना है कि बिहार में जंगलराज वापस आ गया है।

गौरतलब है कि मंगलवार सुबह बालू माफिया ने दरोगा प्रभात रंजन को कुचलकर मार डाला।  यह घटना तब हुई जब प्रभात रंजन ट्रैक्टरों की चेकिंग कर रहे थे।  उसी समय बालू माफिया ने उन पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया। इस घटना में एक अन्य पुलिसकर्मी राजेश कुमार घायल हो गए उन्हें  अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि यह घटना जमुई के गढ़ी थाना क्षेत्र के चनरवर पुल के पास हुई। प्रभात रंजन को जानकारी मिली थी कि अवैध तरीके से बालू को ले जाया जा रहा है। सूचना मिलने के बाद प्रभात रंजन अपने दलबल के साथ चनरवर पुल के पास पहुंचे थे। जहां उन्होंने अवैध तरीके से बालू परिवहन कर रहे गाड़ियों की जांच शुरू की। उसी दौरान सामने से आये एक ट्रैक्टर ने उन्हें कुचल दिया।  बताया जा रहा है कि इस ट्रैक्टर पर अवैध बालू लदा हुआ था।

बताया जा रहा है कि दरोगा प्रभात रंजन ने बालू माफिया के ट्रैक्टर को रोकने की कोशिश कर रहे थे। इसलिए उसने उन पर ट्रैक्टर को चढ़ा दिया। वहीं, एक अन्य पुलिसकर्मी राजेश कुमार घायल हो गया। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस घटना की निंदा करने के बजाय बिहार शिक्षामंत्री चंद्रशेखर ने इसे सामान्य घटना बताते हुए पत्रकारों से ही सवाल पूछ डाला। उन्होंने कहा कि “ये नई घटना है? पहली बार हुई है ? इससे पहले कभी नहीं हुई है ? उत्तर प्रदेश में नहीं होता है ? मध्य प्रदेश में नहीं होता है ? इस तरह की घटनाएं होती रहती हैं। चंद्रशेखर वही नेता हैं जो बार बार रामचरित मानस का अपमान करते रहते हैं।

ये भी पढ़ें

 

बिहार में जंगलराज! बालू माफिया ने दरोगा के ऊपर चढ़ाई ट्रैक्टर, मौत  

मुजफ्फरनगर में अनियंत्रित कार ट्रक में घुसी, छह लोगों की मौत 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का सर्वव्यापी प्रभाव

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,542फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
162,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें