22 C
Mumbai
Friday, February 23, 2024
होमराजनीतिअब्दुल्ला का फिर जागा पाक प्रेम, कहा, बात करें वरना "गाजा जैसा...

अब्दुल्ला का फिर जागा पाक प्रेम, कहा, बात करें वरना “गाजा जैसा होगा हाल”

फारूक अब्दुल्ला ने केंद्र सरकार द्वारा पाकिस्तान से बातचीत नहीं करने पर सवाल उठाया है।

Google News Follow

Related

नेशनल कॉन्फ्रेंस के मुखिया फारूक अब्दुल्ला का एक बार फिर पाकिस्तान प्रेम देखने को मिला है। उन्होंने कहा कि भारत पाकिस्तान से बात करे वरना जम्मू कश्मीर का हाल गाजा जैसा होगा।उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा पाकिस्तान से बातचीत नहीं करने पर सवाल उठाया है। उन्होंने यह बात मंगलवार को कही।

उन्होंने कहा कि एक बार पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि दोस्त बदले जा सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं बदले जा सकते हैं। अगर हम पडोसी से दोस्ताना व्यवहार रखेंगे तो दोनों की प्रगति होगी। पीएम मोदी ने भी कहा था कि युद्ध विकल्प नहीं वार्ता के जरिये मसाला सुलझाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि” वार्ता कहां है ? नवाज शरीफ प्रधानमंत्री बनने वाले हैं। और वे कह रहे हैं कि हम बातचीत के लिए तैयार हैं। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि क्या कारण है कि हम बातचीत नहीं करना छह रहे है।

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि अगर हम बातचीत के जरिये समस्या का समाधान नहीं किया तो हमारा भी हाल गाजा और फिलिस्तीन जैसा हो जाएगा। जिस पर इजरायल बमबारी कर रहा है … गौरतलब है कि फारूक अब्दुल्ला का बयान ऐसे समय आया जब जम्मू कश्मीर के पुंछ में आतंकियों के हमले में पांच जवान शहीद हो गए हैं। वहीं, सेना द्वारा नागरिकों से पूछताछ में तीन नागरिकों के मारे जाने की जांच की जा रही है। इतना ही नहीं एक रिटायर पुलिस अधिकारी को मस्जिद में गोली मारकर हत्या कर दी गई।

बता दें कि कुछ माह से पुंछ और राजौरी में लगातार आतंकी घटनाएं हो रही है, इस दौरान बड़ी संख्या में भारतीय जवान शहीद हुए हैं। 22/23 नवंबर 2023 को राजौरी के बाजीमाल इलाके में आतंकियों और सेना के जवानों के बीच हुई मुठभेड़ में दो कैप्टन और तीन जवान शहीद हो गए थे। जबकि 5 मई 2023 को हुए आतंकी हमले में राजौरी के केसरी हिल क्षेत्र में पांच जवान शहीद हुए थे। 20 अप्रैल 2023 को पूंछ में आतंकियों ने सेना के वाहन को घेर लिया था ,जिसमें पांच जवान शहीद हुए थे। इसी तरह 10 अक्टूबर 2021 को पूंछ में ही भाटा धुलियां से पास चमरेड के जंगलों में आतंकियों के हमले में पांच जवान शहीद हुए थे। 15 अक्टूबर 2021 को भी भाटा धुलियां के जंगलों में आतंकियों और सेना के बीच हुए मुठभेड़ चार जवान शहीद हुए थे।

ये भी पढ़ें

छत्तीसगढ़ के कोरबा में 101 परिवारों को हिन्दू धर्म में वापसी

स्वामी प्रसाद मौर्य ने अखिलेश को दिखाया ठेंगा! हिन्दू धर्म पर की विवादित टिप्पणी

“मोदी विष्णु का तेरहवां अवतार! जो लोग बाबरी गुंबद ढहने पर भाग गए…”,​-​ संजय रा​ऊत ! ​

मराठा आरक्षण: सरकार को ​मनोज जरांगे पाटिल ने 20 जनवरी को उग्र आंदोलन की ​दी चेतावनी​!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,761फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें