26 C
Mumbai
Thursday, July 18, 2024
होमन्यूज़ अपडेट"​डॉ​.​अम्बेडकर यदि इस्लाम अपना लिया होता…”;​ 'उस' बयान पर वडेट्टीवार ने कहा..​!

“​डॉ​.​अम्बेडकर यदि इस्लाम अपना लिया होता…”;​ ‘उस’ बयान पर वडेट्टीवार ने कहा..​!

विजय वडेट्टीवार ने कहा, ''जो बात मैंने उस भाषण में उठाई थी, वही बात उस समय कई वक्ताओं ने भी उठाई थी​|​कई लेखकों ने भी यह मुद्दा उठाया​|​मैंने वह मुद्दा उस समय के संदर्भ में नहीं, बल्कि आज के संदर्भ में उठाया था।आज ​यदि डाॅ. ​बाबा साहब अम्बेडकर ने इस्लाम धर्म अपना लिया होता तो देश दो भागों में बंट गया होता।

Google News Follow

Related

राज्य के विपक्षी नेता और कांग्रेस विधायक विजय वडेट्टीवार डॉ. बाबा साहब अम्बेडकर ने बयान दिया था कि यदि उन्होंने मुस्लिम धर्म स्वीकार कर लिया होता तो भारत दो भागों में विभाजित हो गया होता।परभणी में ​दी गयी उनकी टिप्पणी की उनके विरोधियों ने आलोचना की।इस बारे में पूछे जाने पर विजय वडेट्टीवार ने सफाई दी|उन्होंने यह भी अपील की कि मेरे बयान का गलत मतलब न निकाला जाए|

विजय वडेट्टीवार ने कहा, ”जो बात मैंने उस भाषण में उठाई थी, वही बात उस समय कई वक्ताओं ने भी उठाई थी|कई लेखकों ने भी यह मुद्दा उठाया|मैंने वह मुद्दा उस समय के संदर्भ में नहीं, बल्कि आज के संदर्भ में उठाया था।आज यदि डाॅ. बाबा साहब अम्बेडकर ने इस्लाम धर्म अपना लिया होता तो देश दो भागों में बंट गया होता। क्योंकि धर्म में जहर फैलाने वाले लोग आज देश के शासक बन गये हैं।”

“शासक हिंदू-मुसलमानों को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा कर रहे हैं”: “दिल्ली में क्या चल रहा है।” वहां हिंदू और मुसलमानों को एक दूसरे के खिलाफ खड़ा किया जा रहा है|तो आज यदि डॉ.अम्बेडकर ने इस्लाम अपना लिया होता तो देश का क्या होता? मैंने वह बयान आज की स्थिति के अनुसार दिया है|यानि आज अगर डाॅ.अंबेडकर होते और उन्होंने इस्लाम अपना लिया होता तो देश दो हिस्सों में बंट गया होता|विजय वडेट्टीवार ने कहा, ”आज के शासक इसके लिए जिम्मेदार हैं।”

‘देश में जाति-धर्म के आधार पर जहर बोने का काम चल रहा है’ विजय वडेट्टीवार ने आगे कहा, ‘देश में जाति-धर्म के आधार पर जहर बोने का काम चल रहा है|वह कार्यक्रम डाॅ. बाबा साहब अंबेडकर का नहीं, बल्कि बुद्ध की मूर्तियों के वितरण का था। हम बुद्ध के मार्ग पर चलेंगे तो देश और दुनिया शांति के मार्ग पर चलेगी। डॉ.अम्बेडकर ने बौद्ध धर्म स्वीकार करते समय यह स्पष्ट रुख रखा था​|

“उस समय बाबासाहेब अम्बेडकर से कई लोगों ने इस्लाम अपनाने का अनुरोध किया था”: “उस समय बाबासाहेब अम्बेडकर से कई लोगों ने इस्लाम अपनाने का अनुरोध किया था। अगर आज होता और उन्होंने ये फैसला ले लिया होता तो देश दो हिस्सों में बंट गया होता|क्योंकि दिल्ली में बैठे आज के शासक दो धर्मों में जहर बो रहे हैं। उन्होंने जो कहा उसका यही मतलब था|वडेट्टीवार ने यह भी कहा कि मेरी बातों का गलत मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए|

​यह भी पढ़ें-

बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र, कुछ जगहों पर बारिश की संभावना​, तापमान में गिरावट​!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,504फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
164,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें