31 C
Mumbai
Friday, May 24, 2024
होमदेश दुनियाPM मोदी ने कहा,''अंग्रेजों के प्रभाव के कारण आजादी के बावजूद देश...

PM मोदी ने कहा,”अंग्रेजों के प्रभाव के कारण आजादी के बावजूद देश में हुई गुलामी…”!

बाबा साहब अंबेडकर भारत रत्न देने के लायक नहीं थे और जिन्होंने अपने परिवार के सदस्यों को भारत रत्न दिया।वे हमें सामाजिक न्याय के बारे में सिखा रहे हैं।' जिस कांग्रेस नेता के पास न कोई गारंटी है,न कोई नीतिगत गारंटी है,वह मोदी की गारंटी पर सवाल कैसे उठा रहे हैं? ऐसा सवाल भी मोदी ने पूछा है|

Google News Follow

Related

दस साल में कांग्रेस ने अर्थव्यवस्था में कितनी प्रगति की? 12वें नंबर से 11वें नंबर तक|हम अर्थव्यवस्था को पांचवें नंबर पर ले आए हैं|’ये कांग्रेसी हमें अर्थव्यवस्था के बारे में पढ़ा रहे हैं|कांग्रेस ने ओबीसी को ठीक से आरक्षण नहीं दिया|हमें वे लोग उपदेश दे रहे हैं जिन्होंने सोचा था कि बाबा साहब अंबेडकर भारत रत्न देने के लायक नहीं थे और जिन्होंने अपने परिवार के सदस्यों को भारत रत्न दिया।वे हमें सामाजिक न्याय के बारे में सिखा रहे हैं।’ जिस कांग्रेस नेता के पास न कोई गारंटी है,न कोई नीतिगत गारंटी है,वह मोदी की गारंटी पर सवाल कैसे उठा रहे हैं? ऐसा सवाल भी मोदी ने पूछा है|

कांग्रेस की आलोचना: एक शिकायत यह थी कि दस साल के कार्यकाल को देश और दुनिया इस तरह क्यों देखती है? देश इतना क्रोधित क्यों हुआ? ये उनके कर्मों का फल है|तुम कुछ भी करो उसका फल तुम्हें यहीं भोगना है।हमने लोगों को आपके बारे में इस तरह बात करने के लिए नहीं कहा।लोग उनके बारे में बात कर रहे हैं|मैं एक कहावत पढ़ूंगा| “सदस्य जानते हैं कि हमारी वृद्धि धीमी हो गई है।

महंगाई दर बढ़ती जा रही है|चालू खाते का घाटा हमारी उम्मीदों से कहीं ज़्यादा हो गया है|उनसे पहले एक प्रधानमंत्री ने कहा था कि मैं दिल्ली से 1 रुपया भेजता हूं, लेकिन 15 पैसे आते हैं।वह जानता था कि बीमारी क्या है।लेकिन इसमें कोई सुधार नहीं किया गया|ये टोटका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बता चुके हैं|

नीतिगत पंगुता की पहचान कांग्रेस से की गई: कांग्रेस की पहचान नीतिगत पंगुता के रूप में की गई। लेकिन हमारी सरकार ऐसी नहीं है|देश हमें हमारे निर्णायक फैसलों के लिए याद रखता है|हमने बहुत मेहनत से देश को संकट से बाहर निकाला है।’ध्यान दें कि देश हमें भरपूर आशीर्वाद नहीं देता है।हमारे सदन में अंग्रेजों को याद किया गया|राजा-महाराजा भी अंग्रेजों के पक्ष में थे। अंग्रेजों से प्रेरणा किसने ली? मैं यह नहीं पूछूंगा कि कांग्रेस का जन्म कैसे हुआ|

आजादी के बाद गुलामी की मानसिकता को किसने लागू किया?: आजादी के बाद भी हमारे देश में गुलामी की मानसिकता को किसने बढ़ाया? यदि आप अंग्रेजों से प्रभावित नहीं थे तो अंग्रेजों द्वारा बनाई गई दंड संहिता को क्यों नहीं बदलते? ब्रिटिश काल के सैकड़ों कानून क्यों नहीं बदले गए? देश में लाल बत्ती संस्कृति कितने दशकों में शुरू हुई? ब्रिटिश संसद में सुबह के नौ बजने के कारण भारत का बजट शाम पांच बजे पेश किया गया| उस समय के अनुसार यह परंपरा शुरू हुई।

यह भी पढ़ें-

राम मंदिर के दर्शन को उत्सुक दक्षिण कोरिया का अयोध्या से है खास कनेक्शन

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,599फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
155,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें