29 C
Mumbai
Monday, February 26, 2024
होमन्यूज़ अपडेटगठबंधन किया लेकिन पार्टी के विचार नहीं छोड़े- अजित पवार

गठबंधन किया लेकिन पार्टी के विचार नहीं छोड़े- अजित पवार

विपक्षी दल के लोग आए दिन गाली-गलौज करते हैं। लेकिन मैं हर बात का जवाब देने के लिए बाध्य नहीं हूं| राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने भूमिका पेश करते हुए कहा कि हम कर्जत में लोगों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता बरकरार रखेंगे| वह एनसीपी की निश्चय बैठक में बोल रहे थे|

Google News Follow

Related

हालात को देखते हुए राजनीतिक गठबंधन बनाना ही होगा, कोई भी पार्टी इससे बच नहीं पाई है| बैठकर विरोध करना हमारा एजेंडा नहीं है।’ इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि सत्ता में बैठने के बाद लोगों का काम कैसे होगा| हालांकि हमने गठबंधन तो कर लिया है, लेकिन हमने पार्टी नहीं छोड़ी है|’ विपक्षी दल के लोग आए दिन गाली-गलौज करते हैं। लेकिन मैं हर बात का जवाब देने के लिए बाध्य नहीं हूं| राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने भूमिका पेश करते हुए कहा कि हम कर्जत में लोगों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता बरकरार रखेंगे| वह एनसीपी की बैठक में बोल रहे थे|

इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष सुनील तटकरे, महिला एवं बाल कल्याण मंत्री अदिति तटकरे, रूपाली चाकणकर, अनिकेत तटकरे, सुधाकर घारे, दत्ताजीराव मसुरकर उपस्थित थे। इस वक्त महाराष्ट्र का माहौल अलग है| हर किसी को अपनी राय व्यक्त करने का अधिकार है, लेकिन दूसरों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का नहीं, समाज में दरार पैदा करने का नहीं।
इस बात का ध्यान रखना होगा कि जातियों के बीच कोई टकराव न हो| मराठा समाज और धनगर समाज आरक्षण चाहता है| यहां तक कि ओबीसी समुदाय भी नहीं चाहता कि उनके आरक्षण पर असर पड़े, लेकिन इस बात पर आम सहमति है कि दूसरों को दिए गए आरक्षण को खतरे में डाले बिना इन समुदायों को आरक्षण दिया जाना चाहिए। अजित पवार ने यह भी साफ किया कि सरकार ऐसे कदम उठा रही है|
पांच साल में चार बार प्राकृतिक आपदाएं आईं। एक ठोस भूमिका निभानी होगी| राज्य सरकार के माध्यम से 4 हजार करोड़ के कार्य किये जायेंगे। जल्द शुरू होंगे ये काम प्रदेश में 1 लाख सीटों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू हो चुकी है| रोजगार, नये उद्योग सृजन के प्रयास किये जा रहे हैं। मराठी राज्य सरकार के माध्यम से मुंबई के मरीन ड्राइव पर एक मराठी भाषा भवन का निर्माण किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि 250 करोड़ की लागत से डेढ़ लाख वर्ग फीट का भव्य भवन बनेगा| बीमा कंपनियों को बेमौसम बारिश के कारण नुकसान झेलने वाले किसानों को मुआवजा देने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने समझाया कि उन्हें सरकार की ओर से भी मदद दी जायेगी| इस अवसर पर राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष सुनील तटकरे, रूपाली चाकणकर और सुधाकर घरे ने उपस्थित लोगों को संबोधित किया|

यह भी पढ़ें-

मोजाम्बिक की ओर से भारत की “तुअर दाल” की सप्लाई बाधित होने से मूल्यों वृद्धि की संभावना!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,752फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
131,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें