31 C
Mumbai
Wednesday, April 24, 2024
होमदेश दुनियासनातन धर्म पर INDIA में दो फाड़, डैमेज कंटोल में जुटे विपक्षी...

सनातन धर्म पर INDIA में दो फाड़, डैमेज कंटोल में जुटे विपक्षी नेता      

उद्धव ठाकरे गुट के नेता संजय राउत ने एमके स्टालिन को अच्छे सलाहकार की सेवा लेने की बात कही है।    

Google News Follow

Related

सनातन धर्म पर उठा विवाद विपक्ष यानी की “इंडिया” के लिए गले की फांस बन गया है। उदय निधि प्रियांक खड़गे के बयान के बाद अब ए राजा के विवादित टिप्पणी से विपक्ष घमासान मचा हुआ है। ममता बनर्जी, सपा नेता रामगोपाल यादव की नसीहत के बाद भी डीएमके सांसद ए राजा ने सनातन धर्म की तुलना एचआईवी से कर भूचाल ला दिया है। अब उद्धव ठाकरे गुट के नेता संजय राउत ने एमके स्टालिन को अच्छे सलाहकार की सेवा लेने की बात कही है।
महाराष्ट्र के उद्धव गुट के नेता और सांसद संजय राउत ने भी सनातन धर्म पर बयानबाजी का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि “उदयनिधि स्टालिन एक मंत्री है और उनके बयान का कोई भी समर्थन नहीं  करेगा, उनको इस तरह के बयान से बचना चाहिए। यह डीएमके की राय हो सकती है। देश में 90 करोड़ हिन्दू और अलग अलग धर्मो के लोग रहते हैं। इस तरह से पूरा देश का माहौल खराब हो गया है। एमके स्तालिन एक आदरणीय नेता हैं ,अगर उनके सलाहाकार  थोड़ा बचकर बयान दें तो इंडिया में रुकावट नहीं आएगी।”
ममता बनर्जी ने भी उदय निधि के बयान की निंदा की है। उन्होंने कहा था कि उन्हें ऐसे बयान देने से बचना चाहिए। सभी धर्मो का सम्मान किया जाना है। इसी तरह से सपा नेता रामगोपाल यादव ने भी कुछ ऐसा  ही कहा है। उन्होंने उदयनिधि को सभी धर्मो का सम्मान करने की सलाह दी है। कांग्रेस इस विवाद से खुद को अलग कर लिया है लेकिन मल्लिकार्जुन खड़गे के बेटे प्रियांक खड़गे के बयान से कोंग्रस फंस गई है।हालांकि प्रियांक ने अपने बयान पर सफाई दी है।  उन्होंने कहा कि मैंने किसी धर्म के बारे में बात नहीं की है।
इधर, कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया भी अपने बेतुका बयान से फंसते नजर आ रहे है। उनका कहना है उन्हें केरल के एक मंदिर में प्रवेश नहीं दिया गया। उन्हें टी शर्ट उतारने को कहा गया। उन्होंने कहा कि मैंने टी शर्ट नहीं उताने से इंकार कर दिया और कहा कि मै बाहर से प्रार्थना करूंगा। उन्होंने यह भी कहा कि सभी को टी शर्ट उतारने को नहीं कहा गया।
 विपक्ष में सनातन धर्म बंटता हुआ नजर आ रहा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी कहा है कि वे सनातनी है। हालांकि विपक्ष के नेता खुलकर उदयनिधि या ए राजा की कड़े शब्दों में निंदा नहीं है। इसकी वजह से विपक्ष दो भागों में बंट गया है।
ये भी पढ़ें         

अब ए राजा ने सनातन धर्म की तुलना HIV से की, अमित शाह को दी चुनौती   

भारत में नाम बदलने की परंपरा पुरानी है, पहले राज्यों और राजधानियों का भी नाम बदला… !

वन नेशन, वन चुनाव: अमित शाह ने रामनाथ कोविंद के साथ की बैठक        

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,634फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें