26 C
Mumbai
Sunday, February 25, 2024
होमधर्म संस्कृतितीन तलाक पीड़ित महिलाएं बना रहीं रामलला के लिए मोती जड़ित वस्त्र  ...

तीन तलाक पीड़ित महिलाएं बना रहीं रामलला के लिए मोती जड़ित वस्त्र      

22 जनवरी से पहले अयोध्या पहुंचाने के लिए ये महिलाएं जी जान से जुटी हुई हैं   

Google News Follow

Related

उत्तर प्रदेश के बरेली की तीन तलाक पीड़िताओं ने रामलला के लिए वस्त्र बना रही हैं। 22 जनवरी को अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां जोरों पर है। रामभक्त अपने अपने तरीके से श्रद्धा व्यक्त कर रहे हैं। तलाक पीड़िता महिलाओं द्वारा इन वस्त्रों में सजावट के लिए जरी जरदोजी का काम किया जा रहा है। ये महिलायें चाहती हैं कि ये वस्त्र 22 जनवरी से पहले अयोध्या पहुंच जाए। इसके लिए ये महिलाएं जी जान से जुटी हुई हैं और रात दिन काम कर रही हैं। बता दें कि ये महिलाएं मेरा हक फाउंडेशन से जुड़ी हुई है। 

बता दें कि मेरा हक फाउंडेशन तीन तलाक पीड़ित महिलाओं के लिए काम करता है। उनके लिए रोजगार मुहैया कराने के साथ ही कानूनी मदद में भी सहायता करता है। मेरा हक फाउंडेशन की मुखिया फरहत नकवी के नेतृत्व में संस्था ने 30 जनपद में एक अभियान चलाकर चंदा एकत्रित कर रही हैं,जिसे राम मंदिर ट्रस्ट को सौंपा जाएगा।      

संस्था की महिलाओं ने कहा कि बीजेपी की सरकार आने से उन्हें तीन तलाक से छुटकारा मिला है। भाजपा सरकार ने तीन तलाक खत्म कर तीन तलाक पीड़िताओं के चेहरे पर मुस्कान ला दिया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के सरकार से बेहद खुश हैं। वहीं, अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए ये महिलाएं वस्त्र भेजने के लिए जोर शोर से जुटी हुई है। 

इन महिलाओं को जब भी समय मिलता है वे रामलला के वस्त्र में जरी जरदोजी करने में जुट जाती है। इन वस्त्रों में मोती लगाए जा रहे हैं। ये सभी महिलाएं जरी जरदोजी का काम करती है, और उनकी आजीविका का मुख्य स्रोत है। हालांकि, यह पहला मौक़ा है जब तीन तलाक पीड़ित महिलाओं ने भगवान राम के वस्त्र बना रही हैं। फाउंडेशन की संचालिका ने बताया कि इस संस्था से 40 से 45 महिलाएं जुड़ी हुई हैं। 

गौरतलब है कि बरेली की जरी जरदोजी का काम मशहूर हैं। इन कामों में महिलाएं जुडी हुई है। यहां की औरतें इस काम में माहिर हैं। अब तलाक पीड़ित महिलाओं ने रामलला को वस्त्र बनाकर भेजने का निर्णय लिया है,जो कौमी एकता की अनोखी पहल है।     

ये भी पढ़ें 

अयोध्या में सिर्फ श्रीराम ही नहीं आएंगे बल्कि 85 हजार करोड़ रुपए भी आएंगे​ ?

Ship hijack rescue: मार्कोस कमांडो ने कैसे बचाई 15 भारतीयों की जान ?

Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या से काशी में रामज्योति लाएगी मुस्लिम महिला!

रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के ही दिन मां बनना चाहती हैं महिलाएं, जानें कारण!      

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें